तालिबान के नेता जिन्होंने काबुल फतह का प्लान किया

0
62

अफगानिस्तान में तालिबान के काबुल तक पहुंच जाने की बात तो आप सब जानते ही हैं। तालिबान ने अपने लड़ाकों को बाहर जाने वाले लोगों को रास्ता देने का हुक्म भी दे दिया है। हम यहां आपको तालिबान के नेताओं के बारे में बताने जा रहे हैं। उन छह नेताओं के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने काबुल फतह का प्लान रचा।

हिबतुल्लाह अखुंदजादा

तालिबान की कमान हिबतुल्लाह अखुंदजादा के पास है। इसे तालिबान के वफादार नेताओं के रूप में जाना जाता है।  तालिबान का यही वह नेता है जो राजनीतिक, धार्मिक औऱ सैन्य मामलो पर अंतिम फैसला लेता है। अखुंदजादा 2016 में तालिबान का सरगना बना था। वह पाकिस्तान के एक मस्जिद में पढ़ाया करता था।

मुल्ला मोहम्मद याकूब

मुल्ला मोहम्मद याकूब तालिबान की स्थापना करने वाले मुल्ला उमर का बेटा है। याकूब तालिबान के सैन्य अभियानों का चीफ माना जाता है। कहा जाता है कि उसी के इशारे पर तालिबानी आतंकी हमला करते हैं।

सिराजुद्दीन हक्कानी

सिराजुद्दीन हक्कानी कमांडर जलालुद्दीन का बेटा है। वह अपने पिता के बनाए हक्कानी नेटवर्क का नेतृत्व करता है। हक्कानी समूह तालिबान के वितीय और सैन्य संपत्ति की देखभाल करता है।

मुल्ला गनी बदर

तालिबान के सह-संस्थापकों में से एक मुल्ला गनी बदर भी है। यह तालिबान के राजनीतिक कार्यालय का प्रमुख है। इस समय वह तालिबान के शांति वार्ता दल का नेता है। यह दर कतर की राजधानी दोहा में एक राजनीतिक समझौते की कोशिश करने का दिखावा कर रही है। बदर को पाकिस्तान की सरकार ने 2018 में रिहा किया था।

अब्बास स्टानिकजई

अब्बास स्टानिकजई कट्टर धार्मिक नेता है। वह तालिबान की सरकार में उप मंत्री के पद पर रह चुका है। पिछले एक दशक से वह दोहा में तालिबान के राजनीतिक कार्यालय में रह रहा है।

अब्दुल हकीन हक्कानी

अब्दुल हकीन हक्कानी तालिबान के शांति वार्ता दल का एक सदस्य है। यह तालिबान के शासन के दौरान मुख्य ऩ्यायाधीश भी रह चुका है। वह धार्मिक विद्वानों की शक्तिशानी परिषद् का प्रमुख भी है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 + five =