देश में बिना ड्राइवर मेट्रो की शुरूआत करते समय क्या कहा पीएम मोदी ने

0
43
आयुष्मान भारत

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। देश में आज से बिना ड्राइवर के चलने वाली पहली मेट्रो रेल की शुरूआत हुई। दिल्‍ली मेट्रो की मजेंटा लाइन पर इस अनूठी पहल से आरामदायक यात्रा और सुगम आवागमन के एक नये युग की शुरूआत हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन जनकपुरी पश्चिम से बॉटेनिकल गार्डन लाईन पर चालक रहित ट्रेन परिचालन सेवाओं का शुभारंभ किया। 37 किलोमीटर लंबी जनकपुरी पश्चिम से बॉटेनिकल गार्डन के बीच चलने वाली मजेंटा लाइन पर कुल 25 मेट्रों स्‍टेशन है, जहां बिना ड्राइवर वाली रेलगाड़ी चलेगी। दिल्‍ली मेट्रो की मजेंटा लाइन पर इस ट्रेन की शुरूआत होने के बाद दिल्‍ली मेट्रो रेल निगम विश्‍व के उन सात प्रतिशत में मेट्रो में शामिल हो गयी, जहां बिना चालक रेलगाडी चलाई जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बिना ड्राइवर के चलनी वाले मेट्रो रेल की शुरूआत के साथ ही हमारा देश दुनिया के उन चुनिंदा देशों में शामिल हो गया है जहां इस तरह की सुविधा उपलब्ध हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि आधुनिक सोच ये कहती है शहरीकरण को चुनौती ना मानकर एक अवसर की तरह इस्तेमाल किया जाए। एक ऐसा अवसर जिसमें हम देश में बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर बना सकते हैं। एक ऐसा अवसर जिससे हम Ease of Living बढ़ा सकते हैं।  पीएम मोदी ने कहा कि मेट्रो सर्विसेस के विस्तार के लिए, मेक इन इंडिया महत्वपूर्ण है। मेक इन इंडिया से लागत कम होती है, विदेशी मुद्रा बचती है, और देश में ही लोगों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिलता है। रोलिंग स्टॉक के मानकीकरण से हर कोच की लागत अब 12 करोड़ से घटकर 8 करोड़ पहुंच गयी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि  2014 में सिर्फ 5 शहरों में मेट्रो रेल थी। आज 18 शहरों में मेट्रो रेल की सेवा है। वर्ष 2025 तक 25 से ज्यादा शहरों तक मेट्रो का विस्तार करने की व्यवस्था है। प्रधानमंत्री ने कहा कि  RRTS- दिल्ली मेरठ RRTS का शानदार मॉडल दिल्ली और मेरठ की दूरी को घटाकर एक घंटे से भी कम कर देगा। मेट्रोलाइट- उन शहरों में जहां यात्री संख्या कम है वहां मेट्रोलाइट वर्जन पर काम हो रहा है। ये सामान्य मेट्रो की 40 प्रतिशत लागत से ही तैयार हो जाती है। साथ ही प्रधानमंत्री ने एयरपोर्ट एक्‍सप्रेस लाइन पर कॉमन मोबिलिटी कार्ड सेवा का भी उद्घाटन किया। देश के किसी भी भाग से जारी किए गए रुपे- डेबिट कार्ड धारक इस कार्ड का इस्‍तेमाल कर एयरपोर्ट एक्‍सप्रेस लाइन मेट्रो में यात्रा कर सकेंगे। वर्ष 2022 तक यह सुविधा समूचे दिल्‍ली मेट्रो नेटवर्क पर उपलब्‍ध हो जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven + twenty =