पकड़े गए लक्ष्मणगढ़ के मूर्ति चोर

0
1000
रफीक खान की रिपोर्ट
राजस्थान के अलवर जिले की लक्ष्मणगढ़ पुलिस ने सैकड़ो साल पुराने भगवान पाश्र्व्रनाथ की कीमती मूर्ति चोरी का मामला सुलझा लिया है। इस सिलसिले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनके कब्जे से अष्टधातु की कीमति मूर्ति और अन्य सामान बरामद किया गया है। शक है कि गिरोह के संबंध एक मूर्ति चोरों के किसी बड़े गिरोह से है जिसके 4 लोग अभी फरार हैं। चोरी की ये वारदात  गत 25 अगस्त की रात्रि को मौजपुर के सैकडों वर्ष पुराने श्री 1008 भगवान श्री शान्तिनाथ जैन मंदिर में हुई थी। ( वीडियो में सीओ रामजी लाल से जानें वारदात)>
पुलिस थाना प्रभारी प्रहलाद सहाय ने बताया मौजपुर गांव के सैकडों वर्ष पुराने जैन मंदिर में अज्ञात चोरों ने मंदिर की दिवार फाद कर मन्दिर के अन्दर प्रवेश किया। तथा मन्दिर में रखी भगवान की अष्टधातु की मूर्ति, 4 चांदी के छत्र , 3 मूर्ति पीतल ,पीतल का कलश, 5 महामंडल व दानपात्र जिसमें लगभग 30 हजार रूपये की राशि को भी चोरी कर ले गये थे। वही पुलिस थाना प्रभारी प्रहलाद सहाय ने बताया कि पुलिस के उच्च अधिकारियों ने घटना की गम्भीरता को देखते हुए एसपी राहूल प्रकाश,एडीशनल एएसपी(ग्रामीण)मूल सिंह राणा व सीओ रामजीलाल चौधरी के निर्देशन में एसएचओ प्रहलाद सहाय के नेतृत्व में एक टीम गठीत की गई।https://youtu.be/-9_lR0ZIFnc
गठीत टीम के द्वारा मोबाईल लोकेशन, बीटीएस व अन्य वैज्ञानिक तरीकों से गिरोह में शामिल लोगों की तलाश कर आरोपितों को चिन्हित किया। इस बीच पुलिस को सूचना मिली की मौजपुर के जैन मन्दिर चोरी के आरोपित मन्दिर से चोरी की गई अष्ठधातू की मूर्ति को बेचने के फिराक  में कही जा रहे है। जिस पर पुलिस ने दो टीमों को गठन कर मुण्ड़ावर पुलिस थाना के टोडऱामोड़ पर दबिश देकर चोरी के आरोपित रमन उर्फ रामनिवास पुत्र केहरी जाति मीना निवासी सालवाड़ी(खेड़ली)हाल निवासी रायसर पुलिस थाना जमवारामगढ़(जयपुर ग्रामीण)व लालचन्द उर्फ लालु को निवासी बाजोली पुलिस थाना रैणी को गिरफ्तार कर आरोपितों के कब्जे से अष्टधातू की मूर्ति सहित अन्य चोरी हुआ सामान बरामद कर लिया।
पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने सात अन्य जगहों पर की गई चोरी की वारदात करना स्वीकार किया है।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here