लखनऊ के पार्क नें “एक शाम बुजुर्गो के नाम” एसएसबी का कार्यक्रम

0
803

सशस्त्र सीमा बल एसएसबी ने अपने 20 दिसम्बर को होने वाले 54वें स्थापना दिवस के  अवसर पर पूर्व नियोजित कार्यक्रमो की श्रृंखला मे लखनऊ के जनेश्वर मिश्र पार्क मे “एक शाम बुजुर्गो के नाम” कार्यक्रम का आयोजन किया। सशस्त्र सीमा बल के इन कार्यक्रमो का आयोजन बल के स्थापना दिवस 20 दिसम्बर तक जारी रहेगा, इसमे लखनऊ शहर के विभिन्न स्कूलो, काँलेजो एवम् विश्वविधालयों मे सशस्त्र सीमा बल के अधिकारीयों एव जवानो द्वारा काँलेजो मे जा कर युवा और युवतियों को फौज/पुलिस मे भर्ती होने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।  मुख्य कार्यक्रम 20 दिसम्बर को सशस्त्र सीमा बल के सीमान्त मुख्यालय, गोमती नगर मे होगा।


इसी क्रम मे लखनऊ के वरिष्ठ नागरिको के लिए बल ने जनेश्वर मिश्र पार्क मे “एक शाम बुजुर्गो के नाम” कार्यक्रम का विशेष आयोजन किया था। कार्यक्रम के दौरान उपस्थित वरिष्ठ नागरिको ने अपने अनुभव तथा फौज के प्रति लोगो के आकर्षण के बारे मे बताया।
इस अवसर पर वरिष्ठ नागरिको के मनोरंजन हेतु एसएसबी के परम्परागत पाईप बैंड तथा ब्रांस बैंड ने मनमोहक धुनों से उपस्थित जन समुदाय का मनोरंजन किया व कार्यक्रम की भव्यता को बढ़ाते हुए बल ने वरिष्ठ नागरिको के लिए प्रश्नोतरी प्रतियोगिता का भी आयोजन किया। जिसमे उपस्थित सभी बुजुर्ग लोगो ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया और उन्हे एसएसबी अधिकारियो द्वारा पारितोषित भी दिया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ नागरिको ने अपने अनुभवो को बल के जवानो के साथ साध्यंकाँलिन चाय कि चुस्कियाँ लेते हुए साझा किया और अपने प्रेरणादायक प्रसंगो से जवानो का मनोबल बढ़ाया।
यह कार्यक्रम कल दिनांक 19 दिसम्बर को भी शहर के शहीद स्मारक पार्क डालीगंज मे आयोजित किया जायेगा।  कार्यक्रम के दौरान एसएसबी के प्रचार अधिकारी आर. के. सिंह सीमान्त लखनऊ ने बुजुर्ग लोगो व उपस्थित जनसमुदाय से अनुरोध किया है, कि वे इन कार्यक्रमो मे भाग लेकर हमारे जवानो को प्रोत्साहित करे और अपनी एक शाम जवानों के साथ बिताए। साथ ही एसएसबी ने भारत-नेपाल सीमा पर रहने वाले गरीब-निराश्रित लोगो की मदद हेतु लखनऊ की जनता से अनुरोध किया कि वे स्वेच्छा से गर्म कपड़े एवम् दैनिक जीवन के उपयोग की वस्तुएँ गरीब-निराश्रित लोगो के लिए इन समारोह के दौरान दान  कर सकते है, जो कि बल द्वारा भारत-नेपाल सीमा पर रहने वाले गरीब-निराश्रित लोगो मे बाँटे जायेगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here