बिहार-असम से फरार बदमाश दिल्ली में धरा गया, पूछताछ में सुपारी किलिंग का खुलासा

बिहार-असम में हत्या के चार मामलों में शामिल फरार कुख्यात अपराधी डब्लू यादव को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। बिहार-असम का यह बदमाश वर्तमान में असम के पलटन बाजार गुवाहाटी में हत्या के एक सनसनीखेज मामले में वांछित और फरार था। गिरफ्तार बदमाश की पहचान डबलू यादव के रूप में हुई है। उस पर 21 फरवरी के दिन भाड़े के हत्यारों का इस्तेमाल कर अवधेश यादव नाम के शख्स की हत्या का आरोप है। गिरफ्तार आरोपी के पास से .315 की एक सिंगल शॉट पिस्टल, जिंदा कारतूस सहित बरामद की गई है।

0
216
बिहार-असम

बिहार-असम में हत्या के चार मामलों में शामिल फरार कुख्यात अपराधी डब्लू यादव को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। बिहार-असम का यह बदमाश वर्तमान में असम के पलटन बाजार गुवाहाटी में हत्या के एक सनसनीखेज मामले में वांछित और फरार था। गिरफ्तार बदमाश की पहचान डबलू यादव के रूप में हुई है। उस पर 21 फरवरी के दिन भाड़े के हत्यारों का इस्तेमाल कर अवधेश यादव नाम के शख्स की हत्या का आरोप है। गिरफ्तार आरोपी के पास से .315 की एक सिंगल शॉट पिस्टल, जिंदा कारतूस सहित बरामद की गई है।

बिहार-असम का कुख्यात बदमाश डबलू यादव पुलिस गिरफ्त में

स्पेशल सेल के डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक एसीपी अतर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर शिव कुमार की टीम ने डबलू यादव उर्फ राधिका रमण को ओखला मंडी के पास से गिरफ्तार किया। डबलू यादव सनसनीखेज शूट आउट के मामले में छह महीने से अधिक समय से फरार था। आरोप है कि जमीनी विवाद में उसने 21.02.2022 को पीएस पलटन बाजार, गुवाहाटी, असम के क्षेत्र में अपने ही भतीजे अवधेश यादव की हत्या करवाई थी। डब्लू यादव ने दो हत्यारों को सुपारी दी थी और अवधेश को अपने चाचा सूर्यनारायण यादव के परिवार के सदस्यों द्वारा अपने दो भाइयों की हत्या का बदला लेने के लिए मार डाला था। अवधेश दो परिवारों के बीच जमीन विवाद को लेकर सूर्यनारायण के परिवार का साथ देता था। डबलू यादव ने पूछताछ में खुलासा किया कि बिहार के समस्तीपुर में उनके गांव में 12 बीघे कृषि भूमि के कब्जे को लेकर उनके चाचा सूर्यनारायण यादव के परिवार और उनके परिवार के बीच 26 साल से अधिक समय से विवाद चल रहा है। उसने आगे खुलासा किया है कि उसने पंकज राम और बलराम पासवान नाम के दो पेशेवर हत्यारों को काम पर रखा था और भूमि विवाद के मुद्दे पर अपने चाचा सूर्यनारायण यादव के परिवार का समर्थन करने के लिए अवधेश यादव को मार डाला था।

घटना के दिन 21.02.2022 को, गुवाहाटी असम के पलटन बाजार इलाके में दो किराए के हत्यारे बाइक पर आए और कई गोलियां चलाईं, जिसमें अवधेश यादव की मौत हो गई। डब्लू यादव ने अपने परिवार के सदस्यों के साथ पहले बिहार में वर्ष 1996 से 2003 के बीच सूर्यनारायण यादव के परिवार के तीन सदस्यों शालिंदर, संजय और संतोष की गोली मारकर हत्या कर दी थी। प्रतिशोध में, सूर्यनारायण यादव के परिवार के सदस्यों ने बाद में बिहार में असम-बिहार के बदमाश डब्लू यादव के दो भाइयों अरविंद और रेवती रमन की हत्या कर दी थी। डब्लू यादव ने आगे खुलासा किया है कि मुकेश यादव (बिहार में जेल से) जो अवधेश यादव के भाई हैं, ने उन्हें खत्म करने के लिए जनवरी 2022 में बिहार में उन पर गोलियां चलाई थीं। लेकिन गोली न लगने के कारण वह बाल-बाल बच गया। यह डब्लू यादव के लिए तुरंत हड़ताल करने का एक ट्रिगर बिंदु था, जिसकी परिणति साजिश में हुई और उसने अनुबंध हत्यारों के माध्यम से असम में अवधेश यादव की हत्या को अंजाम दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × three =