दिल्ली पुलिस की मुहिम…ताकि बच्चे शिकार ना हों साइबर अपराध के

0
514

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने साइबर सुरक्षा और उसके उपयोग पर जागरूकता  प्रोग्राम साइबर उदय का आयेजन किया। इस कार्यक्रम में दिल्ली के करीब 10 हज़ार स्कूली छात्रों ने हिस्सा लिया। जिसमे द्वारका इलाके में  बीजीएस  इंटरनेशनल स्कूल में 30 स्कूलों के 5500 छात्र,ओर पूर्वी दिल्ली के विद्या बाल भवन में 21 स्कूलों के 4500 छात्रों ने भाग लिया।

इंटरनेट के इस युग  में मासूम बच्चे ना केवल साइबर अपराध के शिकार हो रहे है। बल्कि बच्चों को साइबर अपराध में धकेला जा रहा है  साइबर अपराधियो के लिए बच्चे सबसे आसान टारगेट होते है। इसलिए दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने जागरूकता कार्यक्रम के जरिये बच्चों को  साइबर अपराध से बचाने के लिए मेगा मुहिम की शुरुआत की।

दिल्ली पुलिस के अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये  हज़ारो बच्चो को ऑनलाइन, फेक न्यूज़,गेमइंग,सोशल ,चाइल्ड प्रोनोग्राफी, मीडिया,ऑन लाइन फ्रॉड,  पासवर्ड शेयर नही करने,किसी भी फ्रेंड रिकवेस्ट को लेकर तमाम सावधानी कैसे रखी जाए। किसी भी प्रोग्रामिंग को डाउनलोड करने से पहले सावधानी बरतने को लेकर जानकारी दी। पुलिस की माने तो एक सर्वे  के मुताबिक भारतीय बच्चे सबसे आसान टारगेट होते है इसलिए जरूरत थी कि बच्चों को ही साइबर अपराध के प्रति जागरूक की जाय। ताकि बच्चे असानी से साइबर अपराधियो के चंगुल में ना फंसे। पुलिस का दूसरा महत्वपूर्ण मकसद ये है कि अगर ये बच्चे जागरूक होंगे तो कहीं ना वो माँ और बाप भी जागरूक होंगे जिन्हें इंटरनेट के बारे में पूरी जानकारी नही होती।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now