बकाया वेतन मांगने पर नाबालिग लड़की के छह टुकड़े करने का आरोपी इस तरह पकड़ा गया

बकाया वेतन मांगने पर नाबालिल लड़की के छह टुकड़े करने वाला आरोपी कातिल चार साल की फरारी के बाद गिरफ्तार हो गया है। बकाया वेतन मांगने पर कत्ल करने वाले इस आरोपी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा  के मुताबिक

0
27
बकाया वेतम मांगने

बकाया वेतन मांगने पर नाबालिल लड़की के छह टुकड़े करने वाला आरोपी कातिल चार साल की फरारी के बाद गिरफ्तार हो गया है। बकाया वेतन मांगने पर कत्ल करने वाले इस आरोपी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है।

बकाया वेतन मांगने पर कत्ल करने वाले आरोपी का वीडियो

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा  के मुताबिक वेतन मांगने पर कत्ल करने का आरोपी शालू टोपनो उर्फ शारू को झारखंड से गिरफ्तार किया गया है। उस पर करीब साढ़े चार साल पहले दिल्ली के मियांवाली में एक नाबालिग के कत्ल का आरोप है। दिल्ली पुलिस ने उस पर 50 हजार का इनाम भी घोषित किया हुआ था। डीसीपी कुशवाहा के मुताबिक एसीपी अत्तर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर शिवकुमार और पवन कुमार की टीम ने 26 साल के शालू और उसके साथियो ने 2018 में नाबालिग लड़की का कत्ल कर उसके छह टुकड़े कर दिए थे। स्पेशल सेल के पास चार महीने से शालू की गतिविधियों की सूचना थी। इसी सूचना को विकसित कर उसे दबोचने के लिए विभिन्न टीमें कई राज्यो में भेजी गईं। इंस्पेक्टर शिव कुमार की टीम को विशेष सूचना मिली कि शालू अपने गूमला स्थित गांव में है। पुलिस की टीम को आनन फानन में झारखंड भेजा गया और शालू को गिरफ्तार कर लिया गया।

ये था मामला

शालू पर 15 साल की नाबालिग लड़की का कत्ल करने के बाद उसके छह टुकड़े करने और उसके टुकड़े को गंदा नाला के पास फेंकने का आरोप है। 17 मई 2018 को दर्ज हुए इस मामले में 3 लोग पहले ही गिरफ्तार हैं। शालू अब तक फरार चल रहा था।

शालू मैनपावर प्लेसमेंट एजेंसी में काम करता था। वह झारखंड और बिहार से लड़कियां लाकर दिल्ली में घरेलू नौकरानी का काम दिलाता था। इसके बदले में उसे कमीशन मिला करता था। 2015 में वह 12 साल की एक मासूम को झारखंड से लेकर आया और उसे दिल्ली के एक घर में रखवा दिया। तीन साल के बाद लड़की अपने घर वापस जाना चाह रही थी। इसीलिए उसने अपना बकाया वेतन 2 लाख रु की मांग की। मगर शालू और प्सेलमेंट एजेंसी मालिक मंजीत ने उसका बकाया वेतन नहीं दिया। बकाया वेतन नहीं मिलने पर लड़की ने शिकायत दर्ज कराने की धमकी दी तो शालू और उसके तीन दोस्तो में उसका सिर आफिस के दीवार पर मारकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद उसकी लाश को छह टुकड़ो में काटकर एक बैग में रखा गया और गंदा नाले के पास फेंक दिया गया।    

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + 13 =