दिल्ली में 25 पिस्टल और 75 कारतूस बरामद, देखिए वीडियो

0
109

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। अवैध हथियार तस्करी के तीन माडयूल का पर्दाफाश किया गया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हत्थे अवैध हथियार तस्करी के तीन कुख्यात आरोपी चढ़े हैं। इनके कब्जे से 25 अवैध पिस्टल और 75 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं।

स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाह के मुताबिक पकड़े गए आरोपियों की पहचान सूरज परमार, रवि कुमार औऱ प्रदीप कुमार राझा के रूप में हुई है। इन्हें एसीपी अत्तर सिंह, ललित मोहन नेगी और ह्रदय भूषण की देखरेख में इंस्पेक्टर संजय गुप्ता, राजेश कुमार और शिवकुमार की टीम ने पकड़ा।

15 अगस्त के मद्देनजर दिल्ली पुलिस हाई अलर्ट पर है। इसी के मद्देनजर दिल्ली में सप्लाई होने वाले अवैध हथियारों पर सख्त नजर रखी जा रही है। इसी मिशन के दौरान पुलिस को हथियार तस्करी के माडयूल के बारे में सूचना प्राप्त हुई। पहली सूचना मध्य प्रदेश के मुरेना आधारित माडयूल के बारे में हुई। इस सूचना के आधार पर इंस्पेक्टर संजय गुप्ता और इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने काम करना शुरू किया। इस माडयूल के सूरज परमार के बारे में पता लगा। सूरज मुरैना का ही निवासी है। पुलिस को पता लगा कि सूरज अवैध हथियारों की खेप देने के लिए सरिता विहार दिल्ली आने वाला है। पुलिस ने जाल बिछाकर डिस्ट्रिक्ट पार्क सरिता विहार से सूरज को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से 15 सेमी आटोमेटिक पिस्टल और 50 कारतूस बरामद हुए। पूछताछ में पता लगा कि सूरज एक किसान परिवार से संबंध रखता है। उसके पास खेती के लिए जमीन भी है । वह अपने साथी कालू के साथ खरगोने हथियार सप्लाई करता था। बाद में वह राजस्थान, यूपी और दिल्ली के बदमाशों को भी हथियार सप्लाई करने लगा। खरगोने से वह एक पिस्टल 7 से 8 हजार में खरीदकर 20 से 25 हजार रुपये में बेचा करता था। इसी तरह इंस्पेक्टर शिवकुमार की टीम ने हथियार तस्करी के दूसरे माडयूल के रवि कुमार को गिरफ्तार किया। अक्षरधाम के पास से गिरफ्तार रवि के पास से .315 बोर की 4 सिंगल शॉट पिस्टल, और 25 जिंदा कारतूस बरामद हुए।   इसी तरह उसके साथी प्रदीप से 6 सिंगल शॉट पिस्टल बरामद किया गया।

देखें वीडियो-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here