खुल गया अलवर की सनसनी का राज !

0
878

वारदात का खुलासा करने मे हाल ही मे प्रमोशन की ट्रेनिंग कर रहे कानि. अमरसिंह गुर्जर को उच्चाधिकारीयो ने ट्रेनिंग सेन्टर से विशेष तौर पर बुलाया गया।

राजस्थान के अलवर में 3 अक्टूबर को 3 मासूम और 1 नाबालिग सहित पांच लोगों की हत्या कर सनसनी फैलाने वालों का राज खुल गया है। अलवर पुलिस पूरे मामले के पीछे वजह अवैध संबंध बताया है। मामले में मारे गए शख्स बनवारी लाल की पत्नी और उसके प्रेमी सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश के दिशा निर्देशन मे गठित पुलिस की विशेष टीम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए हर पहलू को ध्यान मे रखकर गहनता से जांच की तो सीसीटीवी केमरा व मोबाईल कॉल डिटेल,फिंगर प्रिन्ट, डांग स्कावायड के आधार पर पता चला कि पूरे मामले मे मृतक बनवारी की पत्नी संतोष उर्फ संध्या ने अपने पति व बच्चो को मारने की पूरी साजिश अपने प्रेमी हनुमान के साथ मिलकर रची थी।
पुलिस  बताया की हत्या करने से पहले पति को खाने मे नींद की गोलिया भी दी थीं, लेकिन वारदात के समय बच्चों की नींद खुल गई इसिलिए उनकी भी हत्या कर दी गई।
पुलिस का दावा है कि मामले मे मुख्य आरोपी मृतक की पत्नी,उसका प्रेमी सहित 2 भाड़े के हत्यारे  है इन्ही चारो ने मिलकर 5 हत्याओ की वारदात को अंजाम दिया था,पुलिस ने इन चारो को गिरफ्तार कर गहनता से पूछताछ की तो सभी ने 5 हत्याये करना कबूला है। हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने मे जिला पुलिस अधीक्षक राहुल प्रकाश के नेतृत्व मे घटित टीम मे एएसपी पारस जैन, डीएसपी जयसिंह नाथावत,आईपीएस अधिकारी अनिल बेनीवाल,शिवाजी पार्क एसएचओ विनोद सामरिया, एनईबी एसएचओ देवेन्द्र प्रताप, मिया एसएचओ पवन चौबे, ततारपुर एसएचओ राजेश मीणा, खैरथल एसएचओ जितेन्द्र यादव, सदर एसएचओ अजय यादव व स्पेशल टीम के कानि. अमरसिंह, राजाराम गुर्जर, मुकेश गुर्जर, कासिम खान, ने खुलासा करने मे सराहनीय कार्य रहा

3 अक्दूबर को तीन मासूम औऱ एक नाबालिग सहित पांच लोगों की हत्या ने एक गांव में हीं नहीं राजस्थान के पूरे अलवर जिले में सनसनी फैला दी। मामला अलवर के शिवाजी पार्क का है। मारे जाने वाले लोग अलवर के कठूमर तहसील के गारू गांव के मूल निवासी थे।

 मारे जाने वालों में 50 साल के बनवारी लाल, इनके 17 साल के बेटे अमन, 10 साल के बेटे अज्जु, 12 साल के बेटे हैप्पी और बनवारी के भाई मुकेश का 9 साल का बेटा निक्की शामिल है। अलवर हत्याकांड के कई सारे वीडियो देखें indiavistar के youtube चैनल पर )
ये परिवार शिवाजी पार्क में किराए के मकान में रहता था। इस मकान के दो गेट है और बताया जा रहा है कि गैलरी वाला दरवाजा खुला हुआ था।  मारे गए पांचों लोग मकान के नीचले हिस्से में सो रहे थे जबकि परिवार के अन्य लोग उपरी हिस्से में।
पवन सिंह परमार की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + 3 =