यह डरावना मैसेज आपको भी तो नहीं आया

आज रात आपके घर की बिजली काट दी जाएगी” यह डरावना मैसेज आपको भी तो नहीं आया था ना। दरअसल इस तरह का लाखों फेक डरावना मैसेज भेजकर देशभर के लोगो से ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ बाहरी उत्तरी जिला के साइबर थाना पुलिस ने किया है ।

0
159

आज रात आपके घर की बिजली काट दी जाएगी” यह डरावना मैसेज आपको भी तो नहीं आया था ना। दरअसल इस तरह का लाखों फेक डरावना मैसेज भेजकर देशभर के लोगो से ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ बाहरी उत्तरी जिला के साइबर थाना पुलिस ने किया है । मामले मे 06 साइबर ठग कोलकाता , दुर्गापुर और देवघर से गिरफ्तार किए गए है । इन्होने अब तक इस घोटाले के तहत 1,33,327 लोगो को इस तरह के मैसेज भेजे । काम की बात ये है कि मैसेज या कॉल द्वारा किसी के कहने पर कोई एप्लिकेशन फ़ाइल डाउन लोड न करें ।

बाहरी उत्तरी दिल्ली के डीसीपी रवि कुमार सिंह के मुताबिक साइबर अपराध पोर्टल पर दिल्ली के रोहिणी निवासी और सीआईएसएफ नें कार्यरत सचिन ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि 20 फरवरी 2023 को बिजली भुगतान ना करने और बिजली कनेक्शन काटने की चेतावनी के संबंध में मैसेज मिला। संदेश में बिजली बोर्ड की सहायता के लिए एक हेल्प लाइन नंबर दिया था। हेल्प लाइन नंबर पर संपर्क करते ही उसने व्हाट्सएप्प पर त्वरित सहायता डाउनलोड करने के लिए कहा जिसे करते ही मोटी रकम निकाल ली गई। डीसीपी रवि कुमार सिंह के मुताबिक मामले को सुलझाने के लिए एसीपी यशपाल सिंह की देखरेख और साइबर थाना एसएचओ इंस्पेक्टर रमण सिंह के नेतृत्व में इंस्पेक्टर देवेन्द्र सिंह एसआई जगदीप नारा, हेडकांस्टेबल संदीप, विनोद कुमार, रमन, अनिल, मनदीप और कांस्टेबल विकास की टीम गठित की गई। पुलिस टीम ने तकनीकी निगरानी और मनी ट्रेल का पीछा करते हुए पश्चिंम बंगाल के दुर्गापुर निवासी दीपांकर अंकुर की पहचान की गई। कॉल डिटेल के विश्लेषण से पता लगा कि उसके नंबर से देश भर में 133, 327 बिजली बिलों का भुगतान न करने और कनेक्शन काटने की चेतावनी वाले मैसेज भेजे गए थे। पूछताछ औऱ जांच के बाद पुलिस ने दीपांकर और उसके साथी अनिकेत को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता लगा कि उन्हें दुर्गापुर के ही अर्घय मजमूदार सिम मुहैया कराता था। तीनो आरोपी लोगों को बिजली कटने का डरावना मैसेज भेजकर पैसे ऐंठते थे।

ऑफर-https://amzn.to/43IUplR

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now