अश्लील संदेश से महिलाओं को करता था परेशान पकड़ा गया तो निकला फैक्टरी मजदूर

अश्लील संदेश और तस्वीरों से महिलाओं को परेशान करने वाले एक शख्स को उत्तरी दिल्ली पुलिस के साइबर सेल ने गिरफ्तार किया है। उसने 200 से अधिक महिलाओं का आललाइन पीछा किया और अश्लील संदेश वीडियो या तस्वीरों के माध्यम से उन्हें परेशान भी किया।

0
205
अश्लील संदेश

अश्लील संदेश और तस्वीरों से महिलाओं को परेशान करने वाले एक शख्स को उत्तरी दिल्ली पुलिस के साइबर सेल ने गिरफ्तार किया है। उसने 200 से अधिक महिलाओं का आललाइन पीछा किया और अश्लील संदेश वीडियो या तस्वीरों के माध्यम से उन्हें परेशान भी किया।

उत्तरी दिल्ली डीसीपी सागर सिंह कलसी के मुताबिक साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल के माध्यम से एक शिकायत मिली थी। शिकायत में बुराड़ी निवासी 28 वर्षीय महिला ने आरोप लगाया था कि अज्ञात वय्क्ति गुमनाम फोन और व्हाट्स एप्प संदेशों के माध्यम से उसका पीछा कर रहा है। शिकायत में अश्लील संदेश फोटो वीडियो भेजने की बात भी कही गई थी। शिकायत के आधार पर एसीपी स्वागत पाटिल की देखरेख और इंस्पेक्टर पवन तोमर की निगरानी में महिला उपनिरीक्षक ऋचा के नेतृत्व में हेडकांस्टेबल सोनिका, पंकज और बिजेंदर की टीम बनाई गई।

अश्लील संदेश भेजने वाले की पहचान

मामले की विस्तृत तकनीकी जांच से मनोज कुमार नामक शख्स की पहचान की गई। मनोज बहादुरगढ़ में एक जूस फैक्ट्री में काम करता था। नतीजतन, छापेमारी की गई और आरोपी को पुलिस टीम ने बहादुरगढ़, हरियाणा से पकड़ लिया। उसकी व्यक्तिगत तलाशी लेने पर, कामुक सामग्री और कई महिलाओं को अश्लील संदेश भेजने के रिकॉर्ड वाला एक मोबाइल फोन बरामद किया गया।

यह भी पता चल गया कि आरोपी मनोज कुमार, उम्र -32 वर्ष वही व्यक्ति था जो विभिन्न कॉल और मैसेजिंग ऐप के माध्यम से शिकायतकर्ता सहित अन्य निर्दोष महिलाओं का पीछा कर रहा था और परेशान कर रहा था। लगातार पूछताछ करने पर पता चला कि आरोपी मनोज कुमार, उम्र -32 वर्ष हरियाणा के बहादुरगढ़ में अपने परिवार के साथ रहता है और उसकी पत्नी के साथ वैवाहिक विवाद थे। जिसके चलते वह सोशल मीडिया पर रैंडम महिलाओं को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने लगा और कॉलिंग और मैसेजिंग ऐप के जरिए उन्हें परेशान करता था। हताशा में वह पीड़ितों को अश्लील संदेश वीडियो भेजता था और अनुचित समय पर भी उन्हें कॉल और मैसेज करता था।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now