सीसीटीवी पर काले रंग की पेंट फेंक एटीएम तोड़ने वाले बदमाश गिरफ्तार

सीसीटीवी पर काला रंग फेंक एटीम पर हाथ साफ करने वाले दो कुख्यात लुटेरे दिल्ली में धर दबोचे गए। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक एनकाउंटर के बाद छह राज्यों में सक्रिय एटीएम लुटेरों को गिरफ्तार किया है। लुटेरे सुनसान इलाको के एटीएम को निशाना बनाते थे। एटीएम तोड़ने से पहले वह वहां लगे सीसीटीवी पर काले रंग का पेंट फेंक दिया करते थे।

0
95
सीसीटीवी

सीसीटीवी पर काला रंग फेंक एटीम पर हाथ साफ करने वाले दो कुख्यात लुटेरे दिल्ली में धर दबोचे गए। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक एनकाउंटर के बाद छह राज्यों में सक्रिय एटीएम लुटेरों को गिरफ्तार किया है। लुटेरे सुनसान इलाको के एटीएम को निशाना बनाते थे। एटीएम तोड़ने से पहले वह वहां लगे सीसीटीवी पर काले रंग का पेंट फेंक दिया करते थे।

स्पेशल सेल डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक पकड़े गए बदमाशों की पहचान आबिद हुसैन और वकील उर्फ शकील के रूप में हुई है। उन्हें एसीपी अतर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर शिव कुमार और कर्मवीर सिंह की टीम ने दिल्ली के छतरपुर में 30 जुलाई की देर रात एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार किया।

एनकाउंटर की जगह इनसैट में बदमाश वकील उर्फ शकील

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर शिव कुमार की टीम पिछले कई दिनों से एटीएम तोड़ने वाले बदमाशों पर काम कर रही थी। सूचना मिली थी कि गैंग के सदस्य साउथ दिल्ली में सक्रिय हो रहे हैं। उनका इरादा एक एटीएम को तोड़ना था। इसके लिए उन्होंने एटीएम की पहचान भी कर ली थी।  इंस्पेक्टर शिव कुमार को सूचना मिली की 30 जुलाई की रात वकील और आबिद हुसैन नामक बदमाश भाटी माइंस की तरफ आने वाले हैं। सूचना के आधार पर पुलिस ने जाल बिछाकर संदिग्ध हालत में बाइक सवार दो लोगों को रूकने का इशारा किया। मगर उन्होंने बाइक की स्पीड बढ़ा दी। पुलिस टीम द्वारा धेर लिए जाने पर उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी फायर किया पुलिस की गोली वकील की दायीं पैर में लगी।

पुलिस के मुताबिक बदमाश वकील एटीएम लूट की एक दर्जन से ज्यादा वारदातों में लिप्त रहा है। वह दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान के अलावा महाराष्ट्र और गुजरात, मध्य प्रदेश में भी वारदात कर चुका है। साल 2019 में वकील को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया था। लेकिन 2020 में जमानत पर बाहर आने के बाद से वह कई राज्यों में लंबित मुकदमों में वहां की अदालतों में पेश नहीं हो रहा था। उसकी गिरफ्तारी पर पांच हजार रु का इनाम घोषित था। उसे फरार घोषित करने की कार्रवाही भी चल रही थी। पुलिस के मुताबिक ये बदमाश काफी क्रूर थे और जरूरत पड़ने पर पुलिसकर्मियों पर भी हमला करते थे। गैंग के लोग सूनसान इलाको के उन एटीएम को निशाना बनाते थे जिनमें पहले गार्ड नहीं होता था। एटीएम तोड़ने से पहले वह वहां लगे सीसीटीवी पर काले रंग की पेंट फेंक दिया करते थे ताकी कैमरे में उनके चेहरे कैद ना हो सकें।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here