कोरोना (corona) को हराने वाले मरीज़ों की संख्या में बढ़ोतरी जारी

0
218
corona

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”Listen to Post”]

Corona की बीमारी से एक दिन में अधिकतम मरीजों के ठीक होने का सिलसिला निर्बाध रूप से जारी है। लगातार तीसरे दिन पिछले 24 घंटों में 34,602 मरीज ठीक हुए हैं जो एक दिन में अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। इसके साथ ही Corona की बीमारी से ठीक होने वाले मरीजों की कुल संख्या 8 लाख से अधिक हो गई है और वर्तमान में यह 8,17,208 है। इससे कोविड-19 मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 63.45 प्रतिशत तक पहुंच गई है।


Corona मरीजों के ठीक होने की इन लगातार बढ़ती संख्याओं के परिणामस्वरूप, ठीक होने वाले मरीजों की संख्या इस बीमारी के सक्रिय मामलों (4,40,135 आज) से 3,77,073 अधिक है। ठीक होने वालों और सक्रिय मामलों के बीच यह अंतर बीमारी से ठीक होने की उत्तरोत्तर बढ़ती हुई प्रवृत्ति को दिखा रहा है।


केंद्र सरकार राज्यों / केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रयासों को वहां उच्च संक्रमण वाले क्षेत्रों में विशेषज्ञों के केंद्रीय दल भेजकर और राज्य तथा जिला अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस बीमारी से निपटने पर रणनीतिक चर्चा के जरिए बढ़ाने में लगी है। स्वास्थ्य कर्मियों के समर्पित प्रयासों से उपचार के बाद इस बीमारी से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है और मृत्यु दर (सीएफआर) लगातार घट रही है। अभी मृत्यु दर घटकर 2.38 प्रतिशत तक आई है।


Corona की बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की संख्या में निरंतर बढ़ोतरी केंद्र सरकार के मार्गदर्शन में राज्य / केंद्रशासित प्रदेश सरकारों द्वारा Corona की रोकथाम के लिए अच्छी तरह से तैयार की गई कार्यनीति और उसके बेहतर कार्यान्वयन का नतीजा है। यह रणनीति मुख्य रूप से घर-घर सर्वेक्षण, संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों का पता लगाने और एसएआरआई / आईएलआई मामलों की निगरानी से लेकर अत्यधिक कमजोर तबकों में संक्रमित मामलों का सक्रियता से पता लगाने के साथ-साथ तेजी से परीक्षण के माध्यम से शुरुआती जांच पर ध्यान केंद्रित है। इसके बाद बेहतरीन तरीके से मजबूत किए गए तीन स्तरीय स्वास्थ्य इन्फ्रास्ट्रक्चर और अच्छी तरह से दे


खभाल प्रोटोकॉल मानकों को लागू करते हुए प्रभावी रोकथाम योजना बनाई जाती है और कुशल नैदानिक इलाज होता है। इनसे अस्पतालों में प्रभावी उपचार और घर में आइसोलेशन में रहकर इलाज में सहायता प्राप्त हुई है। इससे यह सुनिश्चित हो गया है कि अस्पताल गंभीर रोगियों के लिए उपलब्ध हैं।

पढ़े पूरी खबर पैसों की कमी को दूर करने के लिए सगी भतीजी के अपहरण की साजिश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − 4 =