पाकिस्तानी नाव से मुजफ्फरनगर तक फैले ड्रग तस्करी नेटवर्क का जाल कैसे खुला जानिए विस्तार से

0
227
पाकिस्तानी नाव

पाकिस्तानी नाव से निकले ड्रग तस्करी नेटवर्क का जाल मुजफ्फर नगर तक फैला हुआ था। जांच में अब तक 1500 करोड़ की हेरोइन जब्त की जा चुकी है। दिल्ली के जामिया नगर से बरामद करीब 85 किलो हेरोइन और 30 लाख रुपये कैश का कनेक्शन भी पाकिस्तानी नाव अल हज़ी से था। गुजरात एटीएस ब्रांच ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के साथ मिलकर इस कड़ी में मुजफ्फर नगर से 775 करोड़ की ड्रग्स और बरामद की है। गुजरात एटीएस का दावा है कि जामिया नगर में एनसीबी के साथ आपरेशन में वह भी शामिल थी। इस कार्रवाई में अब तक 1500 करोड़ की हेरोइन जब्त की जा चुकी है।

गुजरात में पकड़ी गई थी पाकिस्तानी नाव

25 अप्रैल को गुजरात एटीएस और इंडियान कॉस्ट गार्ड ने भारतीय सीमा में पाक की ओर से तेजी से आ रही बोट को पकड़ने की कोशिश की तो बोट चालक गोली चलाकर फरार होने की कोशिश करने लगे। गुजरात एटीएस और कॉस्ट गार्ड ने बोट को किसी तरह पकड़ लिया। पाकिस्तानी बोट अल हज़ से 289 किलो कीमत की 56 किलो हेरोइन बरामद की गई थी। इस सिलसिले में नौ पाकिस्तानी नागरिक पकड़े गए थे।

उत्तर भारत में कार्रवाई

गुजरात एटीएस की विभिन्न टीमें पकड़े गए पाक नागरिकों से पूछताछ के आधार पर उत्तर भारत में  कार्रवाई के लिए निकल पड़ीं। गुजरात एटीएस के मुताबिक दिल्ली पहुंचकर एनसीबी के साथ जामिया नगर में की गई कार्रवाई में पहले 35 किलो फिर 50 किलो हेरोइन बरामद की गई। इस सिलिसले में एक अफगानी सहित चार लोग गिरफ्तार किए गए। इस कार्रवाई में 30 लाख रुपये नकद भी बरामद किए गए थे।

मुजफ्फर नगर से 775 करोड़ की हेरोइन

गुजरात एटीएस के डीएसपी भवेश रोज्या को जानकारी मिली कि जामिया नगर से गिरफ्तार हैदर ने अपनी बहन के घर मुजफ्फर नगर में काफी मात्रा में ड्रग्स छिपा कर रखा है। इस सूचना के आधार पर गुजरात एटीएस के पीएसआई बीएच करोट, अहमदाबाद एसओजी के पीआई एम सी चौधरी ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के साथ मिलकर मुजफ्फर नगर में छापेमारी की। इस कार्रवाई में 155 किलो हेरोइन औऱ 55 किलो हेरोइन बनाने का रसायन बरामद हुआ। बरामद ड्रग्स की कीमत 775 करोड़ बताई जा रही है।

गुजरात एटीएस के मुताबिक पाकिस्तानी बोट अल हज़ से मिले सुराग से अब तक की गई कार्रवाई में 1500 करोड़ की होरेइन जब्त की जा चुकी है। 30 लाख रुपये नकद बरामद किए गए हैं। माना जा रहा है कि पाकिस्तान से मुजफ्फर नगर तक फैले ड्रग का यह कनेक्शन आईएसआई तक जुड़ा हो सकता है। मामले की जांच अभी जारी है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now