जानिए 1983 मे ,इंडिया ने विश्वकप कैसे जीता

0
284

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”Listen to Post”]

37 साल पहले 25 जून,1983 को हमारी टीम इंडिया ने क्रिकेट की दुनिया में अपना पहला वर्ल्ड कप जीता था। इंडिया का मैच दो बार विश्व कप जीत चुकी वेस्टइंडीज से था। इस विश्वकप से पहले किसी को यकीन नहीं था की इंडिया विश्वकप जीत भी सकती है

टीम इंडिया ने कपिल देव की कप्तानी में ये मैच खेला था और उन्होंने टॉस जीतते ही पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया और महज़ 180 रन ही मैदान पर बना पाई।
सभी को लग रहा था की ये मैच जीत कर वेस्ट इंडीज अपनी विश्वकप जीतने की हैट्रिक बनाएगी ,पर भगवान को तो कुछ और ही मंजूर था।

इस विश्वकप में आठ टीमों ने हिस्सा लिया था और सभी को दो ग्रुप मे बांटा गया ,जिसमे चार- चार टीम थी। सभी ग्रुप को आपस मे दो -दो मैच खेलने थे। ग्रुप ए में इंग्लैंड, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और श्रीलंका की टीमें थी, तो ग्रुप बी में वेस्टइंडीज, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जिम्‍बाब्‍वे की टीमें।

फाइनल में ग्रुप ए से वेस्ट इंडीज ग्रुप बी से इंडिया के साथ मुकाबला था। एक ओर दो बार विश्वकप जीतने वाली वेस्टइंडीज की टीम तो दूसरी ओर पहले के विश्व कप मैचों में खराब प्रदर्शन करने वाली भारतीय टीम थी।
भारत ने पहले खेलते हुये मैच में 183 रन बनाये थे, और वेस्टइंडीज की टीम को 140 रनों पर समेट कर ऐतहासिक जीत दर्ज की।


इस विश्वकप मे सवार्धिक रन भारत के बल्लेबाज़ कृष्णामाचारी श्रीकांत ने मैच में 38 रन ,और वेस्टइंडीज के सर विवियन रिचर्ड्स ने 33 रन बनाये थे। इस मैच में मोहिंदर अमरनाथ की आलराउंडर पारी और कपिल देव की वजह से जीत मिली थी। मोहिंदर अमरनाथ को मन ऑफ थे मैच चुना गया क्युकी उन्होंने 266 रन बनाये थे और 3 विकेट ली थी । इस विश्वकप के बाद से ही इंडिया में क्रिकेट के प्रति प्रेम ज्यादा देखने को मिला, और अब क्रिकेट इंडिया में सर्वोप्रिय खेल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 + 3 =