दिल्ली सीपी राकेश अस्थाना ने नए सब इंस्पेक्टरों से जांच में बेहतर करने की उम्मीद जताई

0
0
दिल्ली पुलिस के नए सबइंस्पेक्टरों से जांच में बेहतरी की उम्मीद

दिल्ली सीपी राकेश अस्थाना ने नए सब इंसपेक्टरों से जांच में बेहतर करने की उम्मीद जताई है। दिल्ली सीपी राकेश अस्थाना ने कड़ी ट्रेनिंग के बाद दिल्ली पुलिस में भर्ती हुए 381 सबइंस्पेक्टरों की सलामी ली। दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने पासिंग आउट परेड के दौरान इन सबइंस्पेक्टरों को शपथ दिलाई।

दिल्ली के झरोदा कला स्थित पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज में कड़ी ट्रेनिंग के बाद आज आयोजित पासिंग आउट पैरेड के दौरान 381 ट्रेनी सब इंस्पेक्टर शपथ लेकर दिल्ली पुलिस में शामिल हुए। आज सुबह पासिंग आउट परेड के दौरान दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने इन सभी को शपथ दिलाई। आज के परेड की कमान सब इंस्पेक्टर परवीन और काजल सिंह कर रही थी।

इस कार्यक्रम के दौरान कोरोना महामारी संबंधित सभी आवश्यक सावधानियों को भी ध्यान रखा गया। मास्क और दस्ताने के साथ सोशल डिस्टेंस का भी विशेष ध्यान रखा गया था। इस अवसर पर दिल्ली पुलिस के प्रचलित बैंड ने अपने मधुर धुनों से सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। जिसका नेतृत्व सब इंस्पेक्टर डेविड और प्रेमनाथ ने किया।

PHD कर भर्ती हुए सब इंस्पेक्टर की पोस्ट पर

दिल्ली पुलिस में भर्ती हुए 381 सब इंस्पेक्टरों में एक ऐसे हैं, जिन्होंने इंग्लिश से पीएचडी की पढ़ाई पूरी की है। जबकि एमटेक की पढ़ाई कर भर्ती हुए सब इंस्पेक्टर की संख्या भी 5 है। एमबीए की पढ़ाई कर भर्ती हुए सब इंस्पेक्टर की संख्या 4 और पोस्ट ग्रेजुएट कर भर्ती हुए सब इंस्पेक्टर की संख्या 124 है। बी.टेक-102, बीसीए 03 और 142 सब इंस्पेक्टर वो हैं, जो ग्रेजुएट पास हैं।

14 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश से 381 सब इंस्पेक्टर

दिल्ली पुलिस में भर्ती हुए ये सभी सब इंस्पेक्टर अलग-अलग राज्यों का प्रतिनिधत्व कर रहे हैं। जिनमें सबसे ज्यादा हरियाणा के 140, दिल्ली के 94, उत्तर प्रदेश के 62, राजस्थान से 52, बिहार से 13, मध्य प्रदेश के 8, झारखंड के 3, पंजाब और उत्तराखंड के दो-दो के अलावा महाराष्ट्र, नागालैंड, चंडीगढ़, जम्मू कश्मीर और दादर नगर हवेली राज्यों से 1-1 सब इंस्पेक्टर भर्ती हुए हैं।

फायरिंग, कमांडों, कम्प्यूटर एग्जाम में रहे ये प्रथम

ट्रेनिंग के दौरान फायरिंग कम्पटीशन में सब इंस्पेक्टर अनुराग फर्स्ट रहे। जबकी कमांडो की ट्रेनिंग में सीमा ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। कंप्यूटर के एग्जाम में रमेश को प्रथम स्थान मिला। इसके अलावा सब इंस्पेक्टर आशु रही ऑल राउंडर बेस्ट कैडेट।

फिजिकल और टेकिनिकल ट्रेनिंग दी गई इनको

इन भर्ती हुए सभी सब इंस्पेक्टरों को हर तरह की ट्रेनिंग दी गई। साथ ही लो एंड ऑर्डर को मेंटेन रखने के साथ साथ किस तरह से टेकनिकल सर्विलांस से किसी भी मामले को सुलझाया जा सकता है, उसके बारे में भी विस्तृत ट्रेनिंग दी गई। विषम परिस्थिति में भीड़ से निपटने और उस हालत को काबू करने के बारे में जरूरी जानकारी उपलब्ध करवाई गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here