चाबी वाला गैंग का पर्दाफाश, दिल्ली में पकड़े गए चार

0
186

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। दिल्ली में चाबी वाला गैंग पकड़ा गया है। सोने की जेवरात पहनी महिलाओं को शिकार

बनाने वाले कुख्यात चाबी वाले गैंग का पर्दाफाश हो गया है। दिल्ली की सराय रोहिल्ला पुलिस ने इस गैंग के चार

बदमाशों को गिरफ्तार किया है। यह गैंग की मेकर बन कर घूमता था और मौका पाते ही लूटपाट कर

फरार हो जाता था।

चाबी वाला गैंग की करामात

उत्तरी दिल्ली के डीसीपी एंटो अल्फोंसे के मुताबिक जुराब कारोबारी सराय रोहिल्ला निवासी विक्रम खुराना

ने 27 जुलाई को शिकायत दी थी कि शाम तीन बजे के करीब घूम रहे 3-4 चाबी वाले को ताला ठीक

करने के लिए बुलाया था। यह ताला उनके घर के मुख्य दरवाजे पर लगा था। इसी दौरान चाबी वालो ने

ताला की चाबी ठीक करने के लिए आल्मारी की चाबी भी मंगा ली। विक्रम ने चाबी उन्हें दे दी। चाबी वालो ने

उन्हें बताया कि आल्मारी की नई चाबी बनानी पड़ेगी। कुछ देर बाद चाबी बना कर वह चले गए मगर विक्रम

की आल्मारी से जेवरात भी साफ कर गए।

इस तरह पकड़े गए गैंग के बदमाश 

इस मामले को सुलझाने के लिए एसीपी राकेश कुमार त्यागी की देखरेख और इंस्पेक्टर शीशपाल के नेतृत्व में

एसआई शंभू कुमार झा, हेडकांस्टेबल पुष्कर, संदीप, राम बाबू, कांस्टेबल अमित, आशीष, रवि और जितेन्द्र की टीम बनाई गई। 10 अगस्त को पुलिस टीम ने कई स्थानों पर छापेमारी कर गैंग लीडर सिकंदर सिंह और उसके तीन साथी निशान सिंह, बलवीर सिंह और दर्पण सिंह को गिरफ्तार कर लिया। ये पहाड़गंज के एक होटल से पकड़े गए।

यहां से ये अपने घर इंदौर, नंदूरबार और सूरत फरार होने वाले थे। इनकी निशानदेही पर करीब 30 लाख रुपये के जेवरात भी बरामद हो गए। पूछताछ में पता लगा कि चाबी वाला गैंग के सभी सदस्य आपस में रिश्तेदार हैं। सिकंदर निशान सिंह का बहनोई है। यह गैंग सामान्य तौर पर हाउसवाइफ महिलाओं को शिकार बनाता है। ये महिलाओं को बातों की जाल में फांसकर लूटपाट करने में माहिर होते हैं। सामान्य तौर पर ये साइकिल से चलते हैं। जिस शहर में इन्हें वारदात करनी होती है वहां ये होटल में ठहरते हैं।

वीडियो देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − two =