नकली नोट से सावधान दिल्ली में पकड़ा गया जखीरा

0
26

नकली नोट से सावधान रहिएगा। नकली नोटों के सौदागरों ने पिछले दो साल में करीब दो करोड़ रु मूल्य का नकली नोट दिल्ली में सप्लाई कर दिया है। इसलिए आपका नकली नोटों से सावधान रहना जरूरी है।

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक एसीपी अत्तर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह की टीम ने पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद निवासी फिरोज शेख और मुफज्जुल शेख को कालकाजी मंदिर के पास बस स्टैंड से गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से दो हजार रु की शक्ल के 8 लाख रु मूल्य के नकली नोट बरामद किए गए हैं।

इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह की टीम को अक्टूबर के आखिरी सप्ताह में सूचना मिली थी कि बांग्लादेश से वेस्ट बंगाल के मालदा के रास्ते नकली नोट लाए जा रहे हैं। इसी सूचना के आधार पर पुलिस जांच करती रही 21 दिसंबर को सूचना मिली की फिरोज और उसका गिरफ्तार साथी दिल्ली फेक करेंसी की खेप लेकर आ रहा है। इस सूचना के आधार पर एसआई आदित्य, रंजीत, बलराज, हेडकांस्टेबल अमित, दीपक, कांस्टेबल हरविंदर, सचिन और आमिर की टीम ने जाल बिछाकर फिरोज और उसके साथी मुफाजुल को दबोचा।

खुलासा

फिरोज शेख से पूछताछ में पता चला कि उसे सलीम नाम के शख्स ने मुर्शीदाबाद में नकली नोटों की खेप दी थी। दिल्ली में वह किसी को खेप की सप्लाई देने आए थे। नकली नोट की तस्करी में दोनो पिछले पांच साल से लिप्त हैं। सलीम उन्हें बांग्लादेश से नकली नोट की खेप लाकर देता है। एक लाख रुपये मूल्य के नोट 30 हजार में फिरोज को मिलता था जो 40-45 हजार में इन नोटों को आगे बेच देता था। उन्होंने खुलासा किया कि दोनो ने पिछले दो साल में दिल्ली में ही दो करोड़ रु मूल्य के फेक करेंसी सप्लाई कर दी है।

वर्ष 2016 में नोटबंदी के बाद, बांग्लादेश और पाकिस्तान से फेक करेंसी के प्रचलन में लगभग एक वर्ष का ठहराव था, लेकिन पिछले लगभग 4 वर्षों से ऐसे कई और सिंडिकेट फिर से सामने आए हैं और भारत में नकली नोट की तस्करी और प्रसार करना शुरू कर दिया है। बरामद फेक करेंसी इतनी अच्छी गुणवत्ता के हैं कि इसे नग्न आंखों से मूल से अलग करना मुश्किल है क्योंकि नोटों में लगभग समान सुरक्षा विशेषताएं हैं जैसे बनावट, कागज की अच्छी गुणवत्ता, रंग, सुरक्षा धागा, पानी के निशान आदि।
काठमांडू (नेपाल), बांग्लादेश और भारत में नोटबंदी के बाद फेक करेंसी की बड़ी बरामदगी के विभिन्न मामलों की जांच से, यह संदेह किया गया है कि नकली नोट की बड़ी खेप पहले पाकिस्तान से नेपाल और बांग्लादेश में खाड़ी देशों के माध्यम से हवाई मार्ग से लाई जाती है और वहाँ से सिंडिकेट के सदस्यों द्वारा नेपाल और बांग्लादेश की झरझरा अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के माध्यम से भारत में तस्करी की जाती है।

नकली नोट से सावधान दिल्ली में पकड़ा गया जखीरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here