ड्रग तस्करी में 8 साल जेल में बंद रहने के बाद फिर तस्करी, नाईजीरियाई साथी समेत गिरफ्तार, 40 करोड़ का हेरोइन बरामद

ड्रग तस्करी रैकेट में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक नाईजीरियाई सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 40 करोड़ की हेरोइन बरामद की गई है। पुलिस के मुताबिक दोनो अंतर्राष्ट्रीय ड्रग तस्करी रैकेट का हिस्सा हैं। गिरफ्तार नाईजीरियाई को तो ड्रग तस्करी में 20 साल की सजा भी मिल चुकी है। 8 साल जेल में बिताने के बाद बाहर आते ही पिछले दो साल से उसने फिर से ड्रग तस्करी शुरू कर दी थी।

0
257
ड्रग तस्करी रैकेट

ड्रग तस्करी रैकेट में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एक नाईजीरियाई सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से 40 करोड़ की हेरोइन बरामद की गई है। पुलिस के मुताबिक दोनो अंतर्राष्ट्रीय ड्रग तस्करी रैकेट का हिस्सा हैं। गिरफ्तार नाईजीरियाई को तो ड्रग तस्करी में 20 साल की सजा भी मिल चुकी है। 8 साल जेल में बिताने के बाद बाहर आते ही पिछले दो साल से उसने फिर से ड्रग तस्करी शुरू कर दी थी।

स्पेशल सेल के डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक गिरफ्तार ड्रग तस्करों की पहचान राकेश उर्फ रॉकी और ओबुमुनेमी नवाछकु के रूप में हुई है। इनके कब्जे से कुल 6.2 किलो हेरोइन बरामद की गई। डीसीपी जसमीत सिंह के मुताबिक इंटरनेशनल ड्रग तस्करी रैकेट के बारे में सूचना मिली थी। सूचना पर इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह को काम करने के लिए लगाया गया। काफी कोशिश करने के बाद पता चला कि 12 मई को राकेश उर्फ रॉकी मुकरबा चौक पर हेरोइन की खेप लेकर आएगा। वह वहां से पंजाब सप्लाई करने के लिए जाने वाला था। इस सूचना के आधार पर एसीपी अत्तर सिंह की देखरेख और इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह के नेतृत्व में इंस्पेक्टर रंजीत, आदित्य, हेडकांस्टेबल देवेन्द्र, अजय, अनिल, नवीन औऱ कांस्टेबल हरविंदर के साथ छापेमारी टीम बनाई गई।  पुलिस टीम ने मुकरबा चौक बस स्टैंड से राकेश को पकड़ा तलाशी में उसके पास से 4 किलो हेरोइन बरामद किया गया।

राकेश से पूछताछ के आधार पर नाईजीरियाई ओबुमुनेमी के चाणक्या प्लेस स्थित किराए के घर पर 14 मई को छापा मारा गया जहां नाइजीरियाई ने पुलिस को जानबूझकर घर के बाहर रोके रखा और उस दौरान काफी सारा ड्रग फ्लश की मदद से हटा दिया। पुलिस को उसके पास से 2.2 किलो हेरोइन बरामद हुआ।

राकेश ने बताया कि वह ओबुमुनेमी के निर्देश पर ही पंजाब हरियाणा आदि में पिछले दो साल से हेरोइन सप्लाई कर रहा है। ओबुमुनेमी टूरिस्ट वीजा पर 2009 में भारत आया था। 2012 में एनसीबी ने उसे दो और साथियों के साथ ड्रग तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया था। उसके बाद वह 8 साल जेल में रहा। साल 2018 में कोर्ट ने उसे 20 साल की सजा औऱ जुर्माने का फैसला सुनाया था। वह विदेश में कोरियर कंपनी के माध्यम से ड्रग भेजा करता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − 6 =