दिल्ली में नशे के सौदागरों के अंतर्राष्ट्रीय रैकेट का पर्दाफाश 32 करोड़ की हेरोइन बरामद

0
745

नई दिल्ली, इंडिय़ा विस्तार। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली के साकेत से एक विदेशी सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर नशे के अंतर्राष्ट्रीय रैकेट का पर्दाफाश करने का दावा किया है। इस सिलसिले में नाइजीरिया के आस्कर औऱ पंजाब के सुरजीत को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के मुताबिक इन दोनों से 8 किलो उच्च क्वालिटी की हेरोइन जब्त किया गया है जिसकी कीमत 32 करोड़ रूपये है। इन्हें साकेत मेट्रो स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार दोनों आरोपी गैग के मास्टरमाइंड हैं। यह गैंग पिछले छह माह में दिल्ली औऱ पंजाब में 90 किलो हेरोइन बेच चुका है। दिल्ली में हेरोइन पाकिस्तान औऱ अफगानिस्तान से जम्मू काश्मीर के रास्ते लाई जा रही थी। गिरफ्तार नाईजिरीयाई दुनिया के दूसरे देशों में भी भारत से हेरोइन की खेप भेजता था।

पुलिस टीम औऱ आपरेशन

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में पिछले एक साल के दौरान 130 किलो हेरोइन जब्त की है। नशे के खिलाफ विशेष अभियान के दौरान ही स्पेशल सेल को सूचना मिली की अफगानिस्तान औऱ पाकिस्तान से होरेइन की खेप भारत भेजी जा रही है औऱ यह खेप दिल्ली एनसीआर के साथ साथ पंजाब में भी भेजा जा रहा है। सूचना के आधार पर एसीपी अतर सिंह की देखरेख में इंसपेक्टर ईंश्वर सिंह, एसआई राकेश कुमार, रंजीत सिंह, आदित्य, एएसआई बलराज सिंह, सतीश कुमार, सुखविंदर, हवलदार अमित कुमार, अजय टोकस, देवेन्द्र डबास, संजीव शाह, मनोज कुमार और सिपाही दीपक, मोहित, शिशुकांत, अनिल की टीम गठित हुई। इस टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर 23 अक्टूबर की रात साकेत मेट्रो स्टेशन के पास जाल बिछाकर सुरजीत औऱ आस्कर को गिरफ्तार किया। उनके कब्जे से 8 किलो हेरोइन बरामद हुई।

 पूछताछ में खुलासा 

गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में उनके गैंग के कई सदस्यों के बारे में जानकारी मिली है। आस्कर ने बताया कि दिल्ली में रहने वाला एक औऱ नाईजिरीयाई के सहारे नशे का यह रैकेट चल रहा था। पाकिस्तान औऱ अफगानिस्तान से जम्मू काश्मीर के रास्ते कोरियर हेरोइन की खेप दिल्ली लाकर दिया करते थे। बाद में आस्कर इस खेप को दिल्ली औऱ पंजाब में बेचने के अलावा फ्रांस, कनाडा औऱ इंगलैंड जैसी जगहों पर भी भेजा करता था।

बिजनेस बीजा पर नशे की सौदागरी

आस्कर 6 महीने के बिजनेस वीजा पर पिछले साल मार्च में दिल्ली आया था। वीजा समाप्त होने के बाद भी वह वापस नहीं गया औऱ ड्रग तस्करी में लिप्त हो गया।

 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now