दिल्ली में दो मामलों में भारी संख्या में अवैध हथियारों का जखीरा बरामद

0
495

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। दिल्ली पुलिस ने दो अलग अलग मामलों में भारी संख्या नें अवैध हथियारों का जखीरा बरामद किया है। एक मामले में दिल्ली के एक कुख्यात गैंग के शार्प शूटर का ड्राइवर तो दूसरे मामले में उतर प्रदेश सरकार के रसोईये का बेटा गिरफ्तार हुआ है। दोनों मामलों में कुल मिला कर 33 तमंचे बरामद किए गए हैं। 

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने चार राज्यों में अवैध हथियारों का कारोबार करने वाले सिंडिकेट का पर्दाफाश किया है। इस सिलसिले में दो हथियार तस्करों को गिरफ्तार कर 26 पिस्टल बरामद किया गया है। हथियारों की सप्लाई के लिए बोलेरो कार का इस्तेमाल किया जाता था।

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशावाहा के मुताबिक हथियारों को बनस्पति घी का डिब्बा इस्तेमाल किया जाता था। हथियारों को घी के अंदर डाल दिया जाता था। पुलिस के मुताबिक विभिन्न मामलों में अवैध हथियारों के इस्तेमाल को देखते हुए एसीपी ललित मोहन नेगी की देखरेख में इंस्पेक्टर रविन्द्र कुमार त्यागी और अजय कुमार के नेतृत्व में टीम बनाई गई थी। इस टीम ने गाजीपुर के पास से जितेन्द्र उर्फ जीतू और राजबहादुर को गिरफ्तार किया। ये लोग हथियारों का जखीरा लेकर बोलेरो कार में आ रहे थे। कार में रखे बनस्पति घी के डिब्बे की जांच में पुलिस को 26 पिस्टल के साथ साथ 26 कारतूस भी मिले। राजबहादुर उर्फ राजू के पिता उतर प्रदेश में सरकारी रसोईया हैं।

दिल्ली की साउथ ईस्ट पुलिस के एसटीएफ ने गैरकानूनी हथियारों के रैकेट का भंडाफोड़ किया है। इस सिलसिले में दो लोगों को गिरफ्तार कर 7 देशी तमंचे और 12 कारतूस बरामद किए गए हैं। इनमें से एक सरिता विहार में एक मॉल के पास से तो दूसरा सीलमपुर से गिरफ्तार हुआ। गिरफ्तार आरोपियों में से एक राजधानी के कुख्यात गैंग के शार्पू शूटर का ड्राइवर था।  

दक्षिण पूर्वी जिला पुलिस के अतिरिक्त उपायुक्त ज्ञानेश श्रीवास्तव के मुताबिक एसीपी जगदीश यादव की देखरेख में एसटीएफ इंचार्ज इंस्पेक्टर मुकेश मोंगा के नेतृत्व में एएसआई कृपाल हवलदार श्रवण, अवदेश, महेश चौहान सिपाही अमृत अरविंद और अनुज की टीम को गैरकानूनी हथियारों की रोकथाम का जिम्मा सौंपा गया था। पुलिस की टीम ने विशेष अभियान चलाकर एक हतियार सप्लायर के बारे में जानकारी एकत्र की। 22 सितंबर को पुलिस इस टीम ने सरिता विहार स्थित लीविंग स्टाइल मॉल से मसरूर को गिरफ्तार किया। उसकी निशानदेही पर 5 देशी तमंचे और 8 कारतूस बरामद किए गए। पूछताछ में पता चला कि मसरूर दिल्ली के कुख्यात गैंग छीनू के शार्प शूटर मुमताज का ड्राइवर होता था। उसी दौरान वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हथियार डीलर और सप्लायरों के संपर्क में आया और उनसे हथियार लेकर सप्लाई करने लगा। दो हजार में देशी तमंचा लेकर वह 5-6 हजार में बेच दिया करता था। मसरूर की निशानदेही पर पुलिस ने सीलमपुर से युनुस नामक शख्स को गिरफ्तार कर दो देशी तमंचे और दो कारतूस बरामद किए।    

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − 9 =