सबसे बड़े क्राइम सिंडिकेट के सबसे बड़े बदमाश चढ़े पुलिस के हत्थे

0
95

 नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। सबसे बड़े क्राइम सिंडिकेट के सबसे बड़े पांच बदमाश दिल्ली पुलिस के काउंटर इंटेलीजेंस यूनिट के हत्थे चढ़े हैं। यह बदमाश लारेंस विश्नोई-संदीप उर्फ काला जठेड़ी सिंडिकेट के मुख्य संचालक माने जाते हैं। गिरफ्तार बदमाशों पर लाखों के ईनाम भी घोषित हैं। गौरतलब है कि लारेंस विश्नोई अजमेर जेल में बंद है जबकि संदीप उर्फ काला जठेड़ी वांटेड है। इस क्राइम सिंडिकेट का आतंक चार राज्यों में व्याप्त है।

काउंटर इंटेलीजेंस यूनिट के डीसीपी मनीषी चंद्रा के मुताबिक इन पांच बदमाशों की गिरफ्तारी एसीपी राहुल विक्रम की देखरेख में इंस्पेक्टर विक्रम दहिया औऱ संदीप डबास की टीम ने किया है। गिरफ्तार बदमाश डबल मर्डर, मर्डर, लूटपाट, सुपारी पर हत्या आदि जैसे दर्जनो मामलो में कई राज्यों में वांटेड थे। गिरफ्तार बदमाशों की पहचान कपिल नेहरा उर्फ कपिल नींदाना, यशपाल उर्फ सरपंच, राजीव उर्फ राजू बस्सी, राहुल मेहलावत औऱ गगनदीप उर्फ गुनी के रूप में हुई है। कपिल नेहरा पर गुड़गांव के ट्रिपल मर्डर में 2 लाख, डबल मर्डर में रोहतक से 25 हजार और राजस्थान से हत्या के केस में 5 हजार का इनाम घोषित है। यशपाल उर्फ सरपंच पर गुरग्राम तिहरे हत्याकांड में 50 हजार औऱ राजस्थान के हत्या केस में 5 हजार,  राजीव उर्फ राजू बस्सी पर गुड़गांव के तिहरे हत्याकांड में 50 हजार का इनाम घोषित है। इसी तरह राहुल महलावत पर गुरुग्राम तिहरे हत्याकांड में एक लाख का इनाम घोषित है। गगनदीप उर्फ गुनी पर पंजाब और उत्तराखंड में 20 मामले दर्ज हैं।

काउंटर इंटेलीजेंस यूनिट को सूचना मिली थी कि काला जठेड़ी स्थानीय बदमाशों के साथ मिलकर बड़ा क्राइम सिंडिकेट बनाने की फिराक में है। इस सूचना पर विशेष ध्यान केंद्रीत किया गया। इंस्पेक्टर विक्रम दहिया और इंस्पेक्टर संदीप डबास के नेतृत्व में एसआई संदीप सुथर, निशांत दहिया, सुमेर सिंह, एएसआई बच्चू सिंह, नवीन, राकेश यादव, हेडकांस्टेबल पवन कुमार, अनिल कुमार, दीपक पहल, अनिल डागर, कांस्टेबल अजय सहरावत, राज कुमार, नवीन छिल्लर, रोहित, पंकज कुमार पाल, प्रिंगल, दीपक झंगू और संजीत कुमार की टीम को इस काम पर लगाया गया था। इस टीम ने खास रणनीति के तहत चंदगी राम अखाड़ा के पास 1-2  अप्रैल की रात को जाल बिछाकर पांचो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। इनके कब्जे से दो जिगाना पिस्टल, एक रिवाल्वर औऱ 70 जिंदा कारतूस बरामद किए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here