ओएलएक्स पर चोरी की साइकिल खरीद बिक्री का धंधा, पुलिस ने पकड़ लिया जानिए पूरी कहानी, देखें वीडियो

0
73

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। ओएलएक्स(OLX) पर चोरी की साइकिल खरीद बिक्री का रैकेट चल रहा था। दक्षिणी दिल्ली की मालवीय नगर पुलिस ने मंहगी साइकिल(Bicycle) चोरी कर ओएलएक्स(OLX) पर बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। पकड़े गए तीन लोगों से 11 साइकिलें बरामद की गई हैं। पकड़े गए चोरो में एक आटो चालक और दूसरा एसी मैकेनिक है।

वीडियो-

दक्षिणी दिल्ली पुलिस उपायुक्त अतुल ठाकुर के मुताबिक गिताजंली में रहने वाले आदित्य मेहरा ने अपनी साइकिल चोरी होने की एफआईआर दर्ज कराई थी। इस मामले की जांच के लिए मालवीय नगर थानाध्यक्ष सतीश राणा के नेतृत्व में एसआई संदीप कुमार, एएसआई विरेन्द्र पाल, हेडकांस्टेबल सतबीर वर्मा, राजेश, योगेश, कांस्टेबल वीर सिंह, अखिलेश और संदीप की टीम बनाई गई थी। शिकायतकर्ता से ओएलएक्स पर साइकिल खरीदने का विज्ञापन देने के लिए कहा गया। पुलिस का यह ट्रिक काम कर गया।शिकायतकर्ता से एक आशीष नाम के शख्स ने संपर्क किया। पुलिस ने आशीष कुमार से संपर्क किया और तेहखंड गांव में मुलाकात तय हुई। जैसे ही आशीष कुमार मिला उसके पास चोरी की साइकिल ही बरामद हो गई। पुलिस ने उसे पकड़ लिया। आशीष ने पूछताछ में बताया कि उसने यह साइकिल गौतमपुरी निवासी अनिल से खरीदी थी।  पुलिस ने उसकी निशानदेही पर अनिल को भी गिरफ्तार कर लिया। अनिल की निशानदेही पर मोहन कापरेटिव मेट्रो स्टेशन के पास से 1 साइकिल बरामद की गई। अनिल ने बताया कि उसने यह साइकिल गौतमपुरी के ही रहने वाले राहुल से खरीदी है। पुलिस ने राहुल को भी गिरफ्तार कर लिया। उनकी निशानदेही पर 9 साइकिलें बरामद की गईं।

पूछताछ में पता चला कि राहुल पार्किंग लॉट से साइकिलें चोरी करने का काम करता था। चोरी के बाद साइकिलें अनिल को बेच दी जाती थीं। अनिल आशीष को साइकिल बेचता था औऱ आशीष OLX पर साइकिल बेचने का विज्ञापन देकर बेचा करता था।

राहुल दसवीं पास है और उसके पिता मजदूरी करते हैं जबकि अनिल पेशे से आटोचालक है। वह 12वीं तक पढ़ा है आशीष पेशे से एसी मैकेनिक है। उसके पिता दर्जी का काम करते हैं। वह अनिल के संपर्क में ओएलएक्स के माध्यम से ही आया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 − six =