चाय वाले की बेटी बन गई एयरफ़ोर्स अफ़सर जानिए कैसे

0
361

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”Listen to Post”]

मध्य प्रदेश के छोटे से गांव नीमच में चाय बनाकर बेचने वाले शख्स की बेटी ने इंडियन एयरफोर्स अकादमी में सबसे अधिक अंक हासिल करके भारतीय वायुसेना में फ्लाइंग ऑफिसर बन गईं हैं ।वह एक चाय वाले की बेटी है और अपने मेहनत के बल पर ये मुकाम हासिल किया है।

आंचल बताती हैं यह सब उनके पिता की मेहनत का नतीजा है। उनके पिता ने हमेशा उनके सपनों को पूरा करने में उनकी मदद की है। आंचल के पिताजी सुरेश गंगवाल मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से करीब 400 किलोमीटर दूर नीमच में बस स्टैंड पर पिछले करीब 25 साल से एक छोटी सी चाय की दुकान चलाते हैं।


सुरेश गंगवाल (Suresh Gangwal) ने बताया, ”वर्ष 2013 में उत्तराखंड के केदारनाथ में आई आपदा मे, वायुसेना के कर्मचारी बहादुरी से वहां लोगों की मदद करने में लगे थे,इसे आंचल ने देखा और तब से ही फ्लाइंग ऑफिसर बनने के लिए प्रोत्साहित थी । आँचल के पिता ने बताया, कई बार उनके पास अपनी बेटी की स्कूल या कॉलेज की फीस भरने के लिए पैसे भी नहीं होते थे। कई बार उन्होंने लोगों से उधार लेकर उसकी फीस भरी। उन्होंने कहा कि उसका फ्लाइंग ऑफिसर बनना उनके लिए गर्व की बात है।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने ट्वीट किया, ”नीमच में चाय की दुकान लगाने वाले सुरेश गंगवाल जी की बेटी आंचल अब वायुसेना में फाइटर प्लेन उड़ाएगी. मध्यप्रदेश को गौरवान्वित करने वाली बेटी आंचल अब देश के गौरव और सम्मान की रक्षा के लिए अनंत आकाश की ऊंचाइयों में उड़ान भरेगी. बेटी को बधाई, आशीर्वाद और शुभकामनाएं.”


आँचल दो बहन और एक भाई है । सुरेश गंगवाल ने चाय बेच कर ही अपने 3 बच्चों को पढ़ाया है। सुरेश का बड़ा बेटा इंजीनियर है। दूसरी बेटी आंचल फ्लाइंग अफसर है, तो सबसे छोटी बेटी बी कॉम कर रही है। उन्होंने बेटी की सफलता पर कहा है कि मुसीबतों से कभी घबराना नहीं चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − 5 =