5 ट्रीलियन डॉलर वाले अर्थव्यवस्था की नींव रखी जा चुकी है-शाह

0
317

लखनऊ, इंडिया विस्तार। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आज लखनऊ में उत्‍तर प्रदेश निवेशक सम्‍मेलन के द्वितीय परिवर्तनात्‍मक समारोह (ग्राऊंड ब्रेकिंग सेरेमनी) का उद्घाटन किया। उन्होंने 65,000 करोड़ रुपये के बराबर की 250 से अधिक परियोजनाओं की आधारशिला रखी। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अन्य गणमान्य व्यक्ति और उद्योग जगत की विख्‍यात हस्तियां भी उपस्थित थीं। 

इस अवसर पर श्री शाह ने कहा कि प्रधान मंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने ‘न्यू इंडिया’ का एक स्‍वप्‍न देखा है, जो 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था होगी और दुनिया के लिए सुशासन का एक मॉडल होगा। उन्होंने प्रत्येक नागरिक के जीवन का स्‍पर्श करने और भारत को दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में से एक बनाने के लिए ‘रूपांतरकारी भारत’ के प्रधान मंत्री के विजन को उद्धृत किया। उन्होंने कहा कि श्री मोदी खुली आँखों के साथ सपने देखते हैं और जो लोग ऐसा करते हैं वे तब तक नहीं सोते जब तक उनका स्‍वप्‍न पूरा नहीं हो जाता। उन्‍होंने कहा कि पिछले 5 वर्षों के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था प्रधानमंत्री के नेतृत्व में वैश्विक स्तर पर 11 वें स्थान से छठे स्थान पर पहुंच गई है, जो स्वतंत्र भारत के इतिहास में अभूतपूर्व है। गृहमंत्री ने केंद्र सरकार द्वारा सुशासन का एक मॉडल स्थापित करके व्‍यवसाय करने की सुगमता के लिए उठाए गए सक्रिय कदमों का भी हवाला दिया। उन्होंने कहा कि ‘जीएसटी – एक भारत, एक टैक्स’, कानूनों का सरलीकरण, व्‍यवसाय करने की सुगमता रैंकिंग को लेकर राज्यों के बीच प्रतिस्पर्धा आदि जैसे सुधारों ने अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने में योगदान दिया है और एफडीआई में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों के भीतर भारत ने विश्‍व बैंक की व्‍यवसाय करने की सुगमता रैंकिंग में 142 से 77 तक की छलांग लगाई है।  अमित शाह ने पिछले साल प्रधानमंत्री द्वारा उद्घाटित प्रथम परिवर्तनात्‍मक समारोह के दौरान प्रस्तावित निवेश जुटाने के लिए अद्भुत गति से काम करने के लिए योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्‍तर प्रदेश सरकार को बधाई दी । उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था बनाने की नींव रख दी है और उन्‍होंने विश्वास व्यक्त किया कि जब 4.68 लाख करोड़ रुपये का प्रस्‍तावित निवेश जमीन पर साकार होगा तो उत्‍तर प्रदेश 1 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था और रोजगार के अवसर पैदा करने में अग्रणी राज्य बन जाएगा। उन्होंने कहा कि इन एमओयू का एक चौथाई हिस्सा पहले ही वर्ष में व्‍यावहारिक रूप ले चुका है,  जो राज्य सरकार की एक बड़ी उपलब्धि है। गृह मंत्री ने योगी आदित्यनाथ को रोजगार, कृषि का कायाकल्प करने, बुनियादी ढांचे का निर्माण करने, राज्य में स्वास्थ्य और शिक्षा सुविधाओं में सुधार लाने, लोगों को अपनी विकास की कहानी में जोड़ने के लिए योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा की। उत्‍तर प्रदेश सरकार ने, ‘एक जिला एक उत्‍पाद’ योजना के माध्यम से राज्य में पारंपरिक उद्योगों को सफलतापूर्वक नया जीवन दिया है। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों के भीतर, कानून और व्यवस्था की स्थिति में अभूतपूर्व सुधार हुआ है, जो कि निवेश को आकर्षित करने और राज्य में आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए महत्वपूर्ण है। मंत्री ने कहा कि प्रशासन में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है और एक सरकारी कर्मचारी अब वास्तव में इस सरकार में नागरिकों का एक सेवक बन गया है। श्री शाह ने कहा कि 14 वें वित्त आयोग में, उत्‍तर प्रदेश सरकार ने विकास कार्यों के लिए केंद्रीय निधियों से 8.8 लाख करोड़ रुपये, प्राप्‍त किए जो पिछले आवंटन की तुलना में एक उल्‍लेखनीय वृद्धि थी। उन्होंने निवेशकों को भरोसा दिलाया कि राज्य सरकार ही नहीं बल्कि केंद्र सरकार भी राज्य में सभी निवेशों को धरातल पर देखने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्‍होंने कहा कि अगले 5 वर्षों के भीतर उत्‍तर प्रदेश भारत के राज्यों के बीच व्यापार रैंकिंग और सामाजिक-आर्थिक विकास हासिल करने में आसानी से शीर्ष स्‍थान पर होगा।

उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए, योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था में विकसित करने के विजन के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने वैश्विक निवेशकों को आश्वस्त किया कि उत्‍तर प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री के स्‍वप्‍न को साकार करने के लिए व्यापार करने को आसान बनाएगी और निवेश की सुरक्षा करेगी। योगी आदित्यनाथ के विचार में उत्तर प्रदेश वैश्विक निवेश का सबसे पसंदीदा गंतव्य और अगले 5 वर्षों में 1 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का राज्‍य बनेगा। सम्‍मेलन के दौरान खाद्य प्रसंस्करण, रक्षा और एयरोस्पेस विनिर्माण, इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण, पर्यटन और फिल्म, विद्युत गतिशीलता, शक्ति और नवीकरणीय ऊर्जा पर कई सत्र आयोजित किए जा रहे हैं। एक सीईओ राउंड टेबल और बिजनेस-टू-गवर्नमेंट बैठक आयोजित की जायेगी जिसके बाद एक पुरस्कार समारोह का आयोजन होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 − twelve =