यूपी दिवस पर कई कार्यक्रम आयोजित

0
437

नोएडा, इंडिया विस्तार। उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर यूपी दिवस के तीन दिवसीय रंगारंग आयोजनों का मेला शुक्रवार से लखनऊ से अवध शिल्पग्राम में शुरू हुआ। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दीप प्रज्ज्वलित कर ‘उत्तर प्रदेश दिवस’ का उद्घाटन किया। इस दौरान राज्यपाल और मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य नीलकंठ तिवारी ने स्मृति चिह्न भेंट की। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर समारोह का समापन होगा।

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसका उद्घाटन किया। इसके बाद पूरे शिल्प ग्राम का भ्रमण किया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के खिलाडिय़ों को प्रदेश का सर्वोच्च सम्मान लक्ष्मण व रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। दोपहर डेढ़ बजे से मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव मेले में आए लोगों का मनोरंजन करेंगे। इसके बाद शाम को अवधि गायिका वंदना मिश्र अपनी गायकी से समां बांधेंगी। बता दें,  यूपी दिवस कार्यक्रम में इस बार भी प्रदर्शनी, रंगारंग कार्यक्रम और सरकार की योजनाओं का लोकार्पण शामिल किया गया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 15 मंडल मुख्यालयों में अटल आवासीय विद्यालयों की नींव रखेंगे। इन विद्यालयों में श्रमिकों के बच्चों और निराश्रित बच्चों को मुफ्त शिक्षा दी जाएगी। वर्ष 2017 में पहले स्थापना दिवस पर योगी आदित्यनाथ ने ओडीओपी की घोषणा की थी, जबकि दूसरे स्थापना दिवस पर 2018 में विश्वकर्मा श्रम सम्मान शुरू किया गया था। अब तीसरे स्थापना दिवस पर सरकार अटल आवासीय विद्यालय की सौगात देने जा रही है। समारोह में मुख्यमंत्री जिलों से संबंधित योजनाओं का डिजिटल लोकार्पण करेंगे, वहीं बलरामपुर मेडिकल कॉलेज, एसजीपीजीआई और बलरामपुर ट्राइबल म्यूजियम का भी शिलान्यास करेंगे। खादी बोर्ड से संबंधित एमओयू भी किया जाएगा।

समारोह के तीन दिनों में जहां लोक कलाकारों की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां प्रदेश के विभिन्न हिस्सों की झलक दिखाएंगी, वहीं राज्य सरकार की ओर से एमएसएमई और एक जिला-एक उत्पाद योजना में सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले उद्यमियों और खेल प्रतिभाओं को सम्मानित किया जाएगा। समारोह के दूसरे दिन 25 जनवरी को विभिन्न कार्यक्रम होंगे। 26 जनवरी को प्रदेश के कलाकार सांस्कृतिक व लोक कला के कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। उत्तर प्रदेश 24 जनवरी, 1950 को राज्य के रूप में अस्तित्व में आया था। राम नाईक जब राज्यपाल बने तो उन्होंने यूपी दिवस मनाने का प्रस्ताव दिया। इस बार इसका तीसरा आयोजन है। 

यूपी दिवस कार्यक्रम में इस बार भी प्रदर्शनी, रंगारंग कार्यक्रम और सरकार की योजनाओं का लोकार्पण शामिल किया गया। इन प्रदर्शनियों में से एक खास प्रदर्शनी अवध शिल्प ग्राम में भगवान राम और कृष्ण से जुड़ी लगने वाली है। भगवान राम ने अपने जीवनकाल में किन-किन देशों की यात्रा की और उसका क्या उद्देश्य था। यह सब इस खास प्रदर्शनी में देखा जा सकेगा। इन सबके साथ भगवान कृष्ण और महाभारत से जुड़ी प्रदर्शनी भी लगाई गई है, इसे ललित कला अकादमी ने लगाया है।

पर्यटन महानिदेशक जितेंद्र कुमार ने बताया कि भगवान राम की विश्व यात्रा की प्रदर्शनी पहली बार यूपी दिवस में लगाई जा रही है। इनको बड़ी मेहनत से तैयार किया गया है और नई पीढ़ी को अपनी संस्कृति के बारे में बताने की कोशिश की गई है। आयोजन के दूसरे दिन यानी 25 जनवरी महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को समर्पित रहेगा। इस दिन अलग-अलग विभागों की योजनाओं का लोकार्पण होगा। शाम को साढ़े पांच से साढ़े छह बजे तक पंडित रविशंकर म्यूजिकल फाउंडेशन का कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। 26 की शाम को कार्यक्रम का समापन हो जायेगा।

अवध शिल्पग्राम में प्रदेश की पौराणिक संस्कृति की झलक भी दिखेगी। समारोह में रामायण, महाभारत, कुंभ, दीपोत्सव और कृष्ण जन्मोत्सव के अलावा भी बहुत कुछ होगा। जौनपुर के फौजदार सिंह आल्हा तो लखनऊ के अजीत पांडेय भोजपुरी सुनाएंगे, जबकि ऊषा गुप्ता की कजरी और वंदना मिश्रा के अवधी गायन के साथ शब्द, कीर्तन और गुरुवाणी को भी स्वर मिलेगा। जीवनराम का धोबिया और बांदा के रमेश पाल का पाई-डंडा नृत्य भी लोगों को आकर्षित करेगा।

नोएडा में भी मना यूपी दिवस-

महामाया कन्या इंटर कॉलेज सेक्टर 44 नोएडा में यूपी स्थापना दिवस कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस के संबंध में सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। यूपी सरकार के कई कार्यक्रमों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। इस मौके पर जिला अधिकारी बीएन सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं जिला स्तरीय अधिकारी इस अवसर पर मौजूद रहे।


WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now