माओवादियों के हथियार सप्लायर से पुणे पुलिस भी करेगी पूछताछ

0
604

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हत्थे चढे नक्सल हथियार सप्लायर अजीत रे से पुणे पुलिस भी पूछताछ करेगी। पुणे पुलिस की टीम पूछताछ के लिए दिल्ली पहुंचने वाली है। पुणे पुलिस का अनुमान है कि पूछताछ में भीमा कोरेगांव हिंसा से जुड़े सुराग मिल सकते है।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ चुनाव के पहले दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गढ़चिरोली से  नक्सली को गिरफ्तार किया है। अजीत रे नाम के इस नक्सली पर नक्सलियों को कारतूस सप्पलाई करने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक 48 साल का नक्सली अजित रे साल 1992 से नक्सलियों के अलग अलग कमांडर के लिए कारतूस सप्लाई किया करता था.. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बीते शुक्रवार अजित रे को गडचिरोली से गिरफ्तार किया उसके पास से 45 कारतूस बरामद किए गए.।

दरअसल जुलाई के महीने में स्पेशल सेल ने रामकृष्ण सिंह को पकड़ा था जिसके पास से 407 कारतूस बरामद किए गए थे.. और 13 oct को संजय सिंह को 22 कारतूस के साथ पकड़ा था.. दोनों ने ही पूछताछ में बताया की अजित रे नक्सलियों को कारतूस सप्पलाई करता है.. तब जा कर स्पेशल सेल ने अजित रे को गडचिरोली से गिरफ्तार किया गया।स्पेशल सेल के मुताबिक अजित रे 1992 से नक्सलियों के साथ काम कर रहा था.. और शुरूवारी दौर में लोकल कमांडर संतोष अन्ना के साथ रहता था.. लेकिन हाल ही में नक्सली अजित रे नक्सली कमांडर साई नाथ को कारतूस की सप्पलाई किया करता था.. आपको बता दे नक्सली कमांडर साई नाथ का 40 लोगो के साथ सुरक्षा बल द्वारा अप्रैल के महीने में एनकाउंटर किया गया था।

नक्सली आजीत रे इससे पहले भी 4 बार गिरफ्तार हो चुका है..साल 1991 और 1992 में अजित रे नक्सली गतिविधियों में शामिल होने पर गिरफ्तार किया गया। 2005 में उड़ीसा के नवरंग पुर में नकली नोट के केस में गिरफ्तार हुआ 2008 में वीर मित्रा पुर उड़ीसा आर्म्स सप्लाई मामले में गिरफ्तार किया गया।

नक्सली अजित रे सुरक्षा बलों को चकमा देने के लिए गड़चिरोलो इलाके में कॉन्ट्रेक्टर का काम करता था साथ ही कई गांव में बनी समितियों का नेता भी बना हुआ था.. ताकि नक्सलियों को की जाने वाली कारतूस तस्करी की भनक सुरक्षा एजेंसियों को न लग सके.. दिल्ली स्पेशल सेल के मुताबिक नक्सली कमांडर साई नाथ के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद अजित से नई कमांडर बनी नर्मदा अक्का के संपर्क में आ गया.. पिछले कुछ समय से अजित रे नई कमांडर बनी नर्मदा अक्का के लिए कारतूस लेन का काम करता था।

उसके डीयू प्रोफेसर साई बाबा जिसे नक्सलियों गतिविधियों के चलते गिरफ्तार किया गया स्पेशल सेल डीयू प्रोफेसर साई बाबा के अजित रे के सम्बंध की जांच कर रही है। क्योंकि डीयू प्रोफेसर साई बाबा के हाल ही में बनी नई नक्सली कमांडर नर्मदा अक्का से संपर्क में होनी की बात सामने आई थी।वही दिल्ली से गिरफ्तार नक्सली रोना बिल्सन से क्या अजित रे के लिंक है उस एंगल पर भी स्पेशल सेल जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × one =