दिल्ली से गोरखपुर के लिए नई फ्लाईट शुरू

0
486

लखनऊ,

इंडिया विस्तार, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज गोरखपुर में हवाई अड्डे के नये टर्मिनल भवन फेज-2 तथा एयरपोर्ट अथारिटी के सी0एस0आर0 शेड्यूल के अन्तर्गत बी0आर0डी0 मेडिकल कालेज में नवनिर्मित 108 बेड के रैन बसेरे का उद्घाटन किया। उन्होंने दिल्ली-गोरखपुर-दिल्ली की इण्डिगो की नई फ्लाइट का शुभारम्भ भी किया।

इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री जी ने कहा कि भारतीय विमान पत्तन प्राधिकरण ने अपने नियमित सामाजिक उत्तरदायित्व के अन्तर्गत बी0आर0डी0 मेडिकल कालेज में मरीजों/तीमारदारों की सुविधा के लिए 108 बिस्तरों का दो मंजिला विश्राम गृह का निर्माण किया है। इस विश्राम गृह में नवीनतम सुविधाएं उपलब्ध करायी गयी हैं। यह विश्राम गृह पूर्वी उत्तर प्रदेश तथा पश्चिमी बिहार से बीआरडी मेडिकल कालेज आने वाले मरीजों/तीमारदारों के लिए सुविधाजनक होगा।

मुख्यमंत्री ने नये टर्मिनल भवन का जिक्र करते हुए कहा कि यात्रियों की बढ़ती संख्या और मांग के दृष्टिगत इसका निर्माण किया गया है। यह वातानुकूलित टर्मिनल भवन कांच और स्टील से निर्मित एक संरचना है जो सभी सुविधाओं एवं सेवाओं से सुसज्जित है। उन्होंने कहा कि नागर विमानन मंत्रालय की यह एक सराहनीय पहल है और केन्द्र सरकार उत्तर प्रदेश के विकास के लिए निरन्तर सहयोग कर रही है।

मुख्यमंत्री ने दिल्ली-गोरखपुर-दिल्ली रूट पर इण्डिगो की नई फ्लाइट के शुभारम्भ के संबंध में कहा कि बेहतर हवाई सम्पर्क हेतु इसकी शुरुआत की गयी है। गोरखपुर से नई दिल्ली तक का सफर मात्र 3,000 रुपये में तय किया जा सकता है। पूर्व में, गोरखपुर से केवल एक उड़ान थी, लेकिन आज तीन कम्पनियां इण्डिगो, एयर इण्डिया एवं स्पाइस जेट की उड़ानें संचालित हो रही हैं। रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम के अन्तर्गत प्रदेश के 12 एयरपोर्ट को विकसित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त कुशीनगर तथा दिल्ली के पास जेवर में नये अन्तर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे स्थापित किये जाएंगे। अब गोरखपुर से दिल्ली 14 हजार यात्री प्रतिमाह सफर कर रहे हैं अर्थात प्रतिदिन लगभग 500 लोग हवाई यात्रा कर रहे हैं। शीघ्र ही, गोरखपुर से कोलकाता, मुम्बई, बंगलुरू, काठमाण्डू की हवाई सेवाएं भी उपलब्ध होगी।

योगी ने कहा कि गोरखपुर को देश के सभी महानगरों से जोड़ने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री जी का सपना है कि हवाई चप्पल पहनने वाला भी हवाई यात्रा करे और उनका यह सपना अब साकार हो रहा है। विमान सेवा समय की बचत के साथ विकास की धुरी बन चुकी है। हर व्यक्ति कनेक्टिविटी चाहता है और सरकार विकास की योजना को आगे बढ़ाने की ओर अग्रसर है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘एक जिला एक उत्पाद’ के तहत प्रदेश के हर जनपद को विकसित किया जा रहा है और इसके तहत 5 लाख युवाओं को प्रतिवर्ष रोजगार मिलेगा। विकास के लिए जन सहभागिता का होना आवश्यक है। सकारात्मक सोच विकास को गति देती है। विकास रोजगार की संभावनाओं को लेकर आता है।

इस अवसर पर केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास को काफी गति मिली है और केन्द्र सरकार प्रदेश के विकास में सतत् प्रयत्नशील है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार का प्रयास है कि जिस तरह रेलवे, बस स्टेशन पर बड़ी संख्या में यात्री पहुंचते हैं, उसी प्रकार एयरपोर्ट पर भी पहुंचें।

श्री प्रभु ने कहा कि आने वाले समय में रोडवेज/रेलवे स्टेशन से अधिक यात्रियों की भीड़ हवाईअड्डों पर होगी। हवाई सेवा का विस्तार तेजी से किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश देश का सबसे विकसित राज्य हो, इस दिशा में प्रयास जारी है। गोरखपुर को हवाई सेवा से देश के सभी महानगरों से जोड़ा जायेगा। सरकार यह भी प्रयास कर रही है कि हवाई जहाज खरीदने के बजाय हमारे देश में उनका निर्माण किया जाए। इसके लिए नई नीति बनाई जा रही है। उत्तर प्रदेश इससे अछूता नहीं रहेगा।

केन्द्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री जयन्त सिन्हा ने कहा कि इस देश में कनेक्टिविटी में क्रांति लगातार आती जा रही है। विमानन क्षेत्र में विशेष रूप से क्रांति आ रही है। विमानन पालिसी से पूरे उत्तर प्रदेश में तेजी के साथ क्रांति आ रही है। उन्होंने कहा कि आज इण्डिगो फ्लाइट का शुभारम्भ हुआ है, आगे प्रयास है कि सभी मुख्य शहरों को गोरखपुर से जोड़ा जाय। हवाई जहाज का किराया 4 रुपये प्रति किमी0 पड़ता है, जबकि आटो 5 रुपये प्रति किमी0 चार्ज करता है। उन्होंने यह भी कहा कि वायुयान से चलने वाले यात्रियों की संख्या पूर्व की अपेक्षा अब दोगुनी हो गयी है।

इस अवसर पर केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि प्रदेश में हवाई सेवा का निरन्तर विस्तार हो रहा है। गोरखपुर को पूरे भारत से शीघ्र ही विमान सेवा से जोड़ा जायेगा।

इसके उपरान्त मुख्यमंत्री जी एवं केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु एवं अन्य मंत्रिगण ने मेडिकल कालेज में 108 बेड के रैन बसेरे का निरीक्षण किया।

इस मौके पर प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’, जनप्रतिनिधिगण सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 + seventeen =