दिल्ली में एनकाउंटर-दो बदमाश गिरफ्तार

0
667

इंडिया विस्आतार, नई दिल्ली।

बाहरी दिल्ली के अलीपुर इलाके के मुखमेलपुर गांव के पास बुधवार को तड़के दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और बदमाशों के बीच हुए एनकाउंटर में टिल्लू गैंग केदो बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी के अनुसार सेल को सूचना मिली थी कि टिल्लू गैंग के दो मेंबर स्कूटी से गुजरने वाले हैं। पुलिस टीम ने ट्रैप लगाकर  टीमें तैनात कर दी। जैसे ही पुलिस ने स्कूटी सवार दोनों बदमाशों को रोकना चाहा दोनों बदमाशों ने फायरिंग कर दी, जिसमें दो गोलियां पुलिस के जवानों की बुलेट प्रूफ जैकेट पर जाकर लगी। पुलिस ने पहले ही बुलेट प्रूफ जैकेट के इंतजाम किए थे, इस कारण पुलिस के जवान बदमाशों की गोली से बाल-बाल बचे।  इसके बाद पुलिस ने उन्हें पकड़ने के लिए जवाबी फायरिंग की तो एक बदमाश को पांव में गोली लगी और दूसरे बदमाश को बिना गोली मारे ही पकड़ लिया गया। टिल्लू गैंग के जिस बदमाश को पांव में गोली लगी है वह पांव के निचले हिस्से में लगी है इसलिए वह खतरे से बाहर है। उसे इलाज के लिए नरेला के सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र अस्पताल लेकर जाया गया, जहां से इलाज के बाद पुलिस टीम अपने साथ ले गई। जिस बदमाश को गोली लगी उसका नाम नितेश पता चला है।

पुलिस के अनुसार स्पेशल सेल की जनकपुरी टीम को गुप्त सूचना मिली थी जिसके आधार पर मंजीत नाम के बदमाश को कंझावला से गिरफ्तार किया गया था।  कंझावला से पकड़े गए बदमाश मनजीत ने पूछताछ में सूचना दी थी कि उसके दो साथी सुबह 5 बजे मुखमेलपुर गांव के पास पुश्ते रोड से स्कूटी पर जाने वाले हैं।  उसी आधार पर पुलिस ने यहां जाल बिछाया था जिसमें नितेश और महेश को पकड़ लिया गया।  नितेश को पांव में गोली लगी है उसे गिरफ्तार ने करके पहले ट्रीटमेंट करवाया जा रहा है।

सूत्रों की माने तो दोनों ही अलीपुर के पास के गांव ताजपुर के रहने वाले हैं। जिन दो पुलिसकर्मियों पर जाकर गोली लगी उसमें सहायक सब इंस्पेक्टर लव कुमार और सब इंस्पेक्टर गोपाल है। गौरतलब है कि पिछले दिनों इसी टिल्लू गैंग और गोगी गैंग की आपसी गैंगवार में दिल्ली में कई बेकसूर लोगों की जानें गई……

बुराड़ी में सरेआम सड़क पर दोनों गुटों में फायरिंग हुई जिसमें एक वेल्डिंग करने वाले बेकसूर शख्स की तो एक महिला जो नौकरी पर जा रही थी उसकी भी मौत बदमाशों की आपसी गोलीबारी में गोली लगने से हो गई थी और कई लोग घायल भी हुए थे।  इसी तरह पीतमपुरा में जब बदमाशों ने एक दूसरे पर फायरिंग की जिसमें एक बदमाश की हत्या भी हुई लेकिन एक गोली पास में पान की दुकान लगाने वाले एक शख्स को भी लगी उसकी भी मौत हो गई थी।  इस तरह से ये बदमाश आपसी गोलीबारी में बेगुनाह लोगों को भी साथ में शिकार बना रहे थे।  अब जरूरत है गिरोह के सभी गुर्गों को दबोचा जाए और इनके मेन सरगना भी सलाखों के पीछे हो इसका इंतजार दिल्ली के लोगों को है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here