आरपीएफ के इस कांस्टेबल ने अपने कर्तव्यनिष्ठा से जीत लिए लोगों के दिल

0
499

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। सरकारी विभागो में कम ही ऐसे लोग होते हैं जो अपनी कर्तव्यनिष्ठा से सबका दिल जीत ले। आरपीएफ यानि रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के जवान इंदर सिंह यादव का नाम उन्हीं लोगो में शामिल हो गया है।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Male” buttontext=”इस खबर को ऑडियो में सुनें”]

एक महिला शरीफ हाशमी अपने पति हसीन हाशमी और अपने 4 महीने के बच्चे के साथ बेलगाम से गोरखपुर जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन में यात्रा कर रही थीं। उनका बच्चा दूध के लिए रो रहा था, क्योंकि पिछले किसी भी स्टेशन पर उन्‍हें बच्चे के लिए दूध नहीं मिल पा रहा था। श्रीमती हाशमी ने भोपाल स्टेशन पर आरपीएफ के कांस्टेबल इंदर सिंह यादव से मदद मांगी।

श्री यादव तुरंत दौड़कर भोपाल स्टेशन के बाहर एक दुकान से दूध का पैकेट ले आए लेकिन ट्रेन चलने लगी। कांस्टेबल ने चलती ट्रेन के पीछे भागकर अपनी मानवता और साहस का परिचय दिया और कोच में महिला को दूध का पैकेट प्रदान किया।

इंदर सिंह यादव को इंडिया विस्तार का भी सलाम

रेल और वाणिज्य तथा उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने आरपीएफ कांस्टेबल इंदर सिंह यादव के मानवीय कार्य की सराहना की और उन्हें सम्मानित करने के लिए नकद पुरस्कार की घोषणा की। श्री यादव 4 महीने के एक बच्चे के लिए दूध पहुंचाने के लिए ट्रेन के पीछे भागे और उन्‍होंने कर्तव्यनिष्ठ भावना का प्रदर्शन किया।


WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now