होली पर करने जा रहे हैं रेल का सफर तो जान लें ये बातें वर्ना करना पड़ सकता है पछतावा

0
136
alok verma

गाड़ी बुला रही है क्या सुना रही है…..। जी हां दोस्तों एक समय था जब गाड़ी बुला रही है गाने के साथ बजती ट्रेन की सिटी आवाज ने करोड़ो श्रोताओं का दिल चुरा लिया था। रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों की छुक-छुक और आवाजाही की रेलमपेल से हम आपमें से कौन नहीं वाकिफ है। लेकिन जिस बात से मैं आपको वाकिफ कराना चाहता हूं वह थोड़ा सा अलग है। हालांकि आपमें से कई लोग मेरे द्वारा दी जाने वाली जानकारी से भली भांति परीचित हैं. लेकिन फिर भी वह यात्रा के दवाब में इस वाकफियत को भुला बैठते हैं और फिर उनके साथ कुछ ऐसा हो जाता है कि हाथ में अफसोस के सिवा कुछ नहीं बचता।

होली आने वाली है। इस अवसर पर रेलवे कई विशेष ट्रेनें चलाने वाला है, आपमें से कई अपनी यात्रा की तैयारी कर रहे होंगे। कई लोगो ने तो टिकट भी करा लिया होगा। है ना तो हमने सोचा की क्यों ना आपको कुछ ऐसी जानकारियों से अवगत कराया जाए जो सफर में आपका हमसफर भी हो और आपका बॉडीगार्ड भी। जी हां बॉडीगार्ड क्योंकि जानकारी से बढिया बॉडीगार्ड कोई नहीं होता।

तो जानकारी नंबर 1 ये है कि ट्रेन यात्रा के समय किसी भी सूरत में किसी अंजान शख्स से किसी तरह के खाने पीने की चीज ना लें ना सेवन करें क्योंकि इसमें नशीला पदार्थ मिला हो सकता है और आपके माल ही नहीं आपकी जान के लिए भी यह खतरनाक हो सकता है। कोरोना के तमाम नियमों बंदिशों के बाद भी इस तरह के कई मामले सामने आए हैं।

एक बात और ट्रेन में सोते समय अपना सामान पूरी सुरक्षा में रखना मत भूलिएगा। जब कोई स्टेशन आने वाला हो और ट्रेन की रफ्तार धीमी हो जाए तो इस बात का विशेष ख्याल रखें कि सीट छोड़कर ना उठें क्योंकि ट्रेन में मौजूद अपराधी इसी ताक में रहते हैं कि ट्रेन धीमी हो और किसी का सामान लेकर वो चंपत्त हो जाएं। इस बात का भी खास ख्याल रखें कि जब तक ट्रेन चल रही है दरवाजा ना खोलें। साथी यात्री पर इतना भी भरोसा ना करें कि आरक्षण कराकर वारदात करने की ताक में रहने वाला बदमाश भी इसका लाभ उठा ले। सामान भारी हो या ज्यादा आपको केवल अधिकृत कुली की मदद ही लेनी है क्योंकि कई मामलो में बदमाशों का गुट मदद करने के बहाने आपके सामान में से बड़ी ही सफाई से कीमती चीज चुरा सकता है। यात्रा के दौरान या यात्रा आरंभ होने से पहले सीट पर कीमती सामान छोड़ बाय बाय करने या खाना पानी लेने जाना कईयों को भारी पड़ रहा है तो ख्याल रखिएगा।

कीमती सामान औऱ रूपये पैसे एक जगह पर नहीं रखना समझदारी हो सकती है क्योंकि चोरी आदि होने पर नुकसान कम से कम हो। यात्रा के दौरान हर बैग और परिवार के हर सदस्य खासकर बच्चों और बुजुर्गों की जेब में घर का पता औऱ फोन नंबर लिखा हुआ पर्चा रखना ना भूलिएगा। इससे गुम होने की दशा में वापसी आसान हो जाती है।

लावारिस सामान से सचेत रहने वाली बात तो आप जानते ही होंगे लेकिन खासकर महिलाओं के लिए अपने पर्स और पीट्ठू बैग के प्रति सचेत रहना बहुत जरूरी हैक्योंकि कई मामलो में पर्स या बैग की चेन खोलकर पैसे आदि चोरी करने के मामले सामने आए हैं।

मित्रों उपरोक्त सारी बातों को याद रखने या भूल जाने के बाद अगर कोई हादसा हो जाए तो पुलिस से संपर्क समय रहते करना ना भूलिएगा। नई दिल्ली पर नई दिल्ली रेलवे यानि जीआरपी पुलिस या रेलवे पुलिस बल से आप संपर्क कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 5 =