इस तरह पकड़े गए ये हाईटेक चोर

0
13

दिल्ली की मालवीय नगर पुलिस ने दो ऐसे चोरों को गिरफ्तार किया है जो केमिकल से तालों को तोड़ते थे। पुलिस के लिए यह गिरफ्तारी बड़ी कामयाबी है। उनके पकड़ने के लिए पुलिस ने 30 किलोमीटर तक लगे सीसीटीवी फुटेज की गहन पड़ताल की थी।

इनकी गिरफ्तारी से चोरी के 20 मामले सुलझा लिए गए हैं। पकड़े गए चोर पहले से ही 50 मामलो में लिप्त हैं। पुलिस से पहचान छिपाने के लिए ये लोग हर समय डाक्यूमेंट स्कैनर रखते थे। इनके पास से सोने औऱ चांदी के जेवरात, एक दर्जन घडियां, 54 हजार कैश और दो स्कूटी आदि बरामद किए गए हैं।

साउथ दिल्ली पुलिस के डीसीपी अतुल ठाकुर के मुताबिक मालवीय नगर थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर सतीश राणा ने इलाके में हो रही चोरी की घटनाओं को लेकर एएसआई अतर सिंह, वेद प्रकाश, हेटकांस्टेबल अमित कुमार, संजय और कांस्टेबल चेतन की टीम बनाई थी। पुलिस टीम ने 30 किलोमीटर (मालवीय नगर से उस्मानपुर) तक 300 सीसीटीवी खंगाले। सीसीटीवी से पता लगा कि चोर उत्तर पूर्वी दिल्ली के रहने वाले हैं। इसके बाद स्थानीय मुखबिरों की मदद ली गई। ईबीटबुक एप्प की सहायता से इन चोरों की पहचान की गई। 10-15 दिनों की अथक मेहनत के बाद गौतम पुरी और ज्योति नगर के रहने वाले सचिन उर्फ राजू और मोहम्मद शादाब उर्फ अजय को गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ में पता लगा कि चोरों ने कंप्यूटर और स्कैनर रखा हुआ है जिससे वह फर्जी आधार कार्ड औऱ स्कूटी का नंबर प्लेट बदलकर पुलिस की नजर से बच रहे थे। दोनो चोर केमिकल की सहायता से ताले तोड़ा करते थे। इनके पास से तीन सोने की चेन, एक सोने का लाकेट, एक जोड़ी डायमंड कान रिंग, 400 ग्राम सिल्वर, 12 कलाई घड़ी, कृत्रिम जेवरात, 54 हजार रु कैश, मानिटर, मोबाइल फोन और स्कैनर बरामद किए गए।

शादाब पर पहले से ही 52 केस दर्ज हैं। सचिन के खिलाफ पहले से 6 मामले दर्ज हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

6 − 4 =