मोदी सरकार का बड़ा वार, देश में ये काम हुआ पहली बार, देखें वीडियो

0
73

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। तीन साल पहले जब पीएम मोदी के मंत्री भगोड़ो के नहीं बख्शने का ऐलान कर रहे थे तब सियासी हलको में विपक्षी दल न जाने क्या क्या कह रहे थे। हालांकि उसके पहले भी पीएम मोदी औऱ उनके मंत्रियों ने आर्थिक गुनाहगारों को किसी कीमत पर नहीं बख्शने का ऐलान किया था। 2018 में तो कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद से लेकर राजनाथ सिंह तक बैंक के भगोड़ो के खिलाफ सख्त कार्रवाईयों की बात कई मंचो से कह चुके थे। मगर सियासी गलियारे में तब मजाक उड़ाया जाता था। तीन साल बाद केंद्र सरकार की एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय यानि ईडी ने मोदी सरकार के वार से पूरी दुनिया को परीचित करा दिया है। शायद ये पहली बार हुआ है जब घोटाले की हजारो करोड़ रुपये की रकम वापस हो गई।
Enforcement Directorate यानि ईडी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से जो ट्वीट किया गया है उसके मुताबिक, ईडी ने अब तक विजय माल्या, मेहुल चौकसी और नीरव मोदी की 18170 करोड़ की संपत्ति अटैच और सीज की है. यह रकम बैंकों के कुल नुकसान का करीब 80.45 फीसदी है. ईडी की ट्वीट में आगे कहा गया है कि PMLA के तहत सीज की गई संपत्ति का बड़ा हिस्सा पब्लिक सेक्टर बैंकों और केंद्र सरकार को भी ट्रांसफर किया गया है. यह राशि 9371 करोड़ रुपए है. मेहुल चौकसी ने अकेले पंजाब नेशनल बैंक को 13500 करोड़ का चूना लगाया है.
इस समय Vijay Mallya, Mehul Choksi और Nirav Modi देश के तीन सबसे मोस्ट वांटेड आर्थिक भगोड़े हैं. तीनों को भारत लाने की कोशिश जारी है और उम्मीद है कि जल्द ये तीनों देश भी लाए जाएंगे. इन तीनों ने मिलकर बैंकों को हजारों करोड़ का चूना लगया है. इस बीच एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया है.
बैंकों को 22585 करोड़ का चूना
ED की तरफ से जो जानकारी शेयर की गई है उसके मुताबिक विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी ने मिलकर सरकारी बैंकों को 22585 करोड़ का चूना लगाया है. इन तीनों की 18170 करोड़ की संपत्ति ईडी ने सीज भी की है. यह कुल नुकसान का 80.45 फीसदी. सीज संपत्ति में 969 करोड़ का असेट विदेशों में है. सरकारी बैंकों को अब तक 8441 करोड़ रुपए लौटाए गए हैं.
माल्या को UK सुप्रीम कोर्ट पहुंचने की नहीं मिली इजाजत
इस समय विजय माल्या लंदन में, नीरव मोदी लंदन की जेल में और मेहुल चोकसी को डोमिनिका में गिरफ्तार किया गया है. PMLA की जांच पूरी हो गई है और ईडी ने तीनों के खिलाफ मामला दायर कर दिया है. तीनों को भारत लाने के लिए प्रत्यर्पण अनुरोध (Extradition requests ) यूके और एंटीगुआ-बारबूडा भेजा जा चुका है. वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने माल्या के प्रत्यर्पण की मंजूरी दे दी है. इसे यूके हाईकोर्ट से भी मंजूरी मिल चुकी है. माल्या को यूके सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने की अनुमति नहीं मिली है, जिसके कारण वह बहुत जल्द भारत लाया जाएगा.
नीरव मोदी दो सालों लंदन की जेल में बंद
नीरव मोदी की बात करें तो वेस्टमिंस्टर कोर्ट ने नीरव मोदी के प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी है. वह पिछले दो सालों से लंदन की जेल में बंद है. मुंबई PMLA कोर्ट ने माल्या और मोदी को आर्थिक भगोड़ा घोषित किया हुआ है.
6600 करोड़ का शेयर SBI कंसोर्टियम को ट्रांसफर किया गया
हाल ही में ED ने PMLA कोर्ट के आदेश पर विजय माल्या के 6600 करोड़ वैल्यु के शेयर को SBI नेतृत्व वाले कंसोर्टियम को ट्रांसफर किया है. DRT ने एसबीआई कंसोर्टियम के बदले आज 5824.50 करोड़ का शेयर बेचा है. 25 जून को 800 करोड़ वैल्यु का शेयर बेचा जाएगा.
इस तरह बैंकों के आए कुल 9371 करोड़
बैंक अब तक इन तीनों से 1357 करोड़ रुपए पहले ही रिकवर कर चुका है. इस तरह 8441.5 करोड़ ईडी की तरफ से ट्रांसफर किए जाने के बाद बैंकों की कुल रिकवरी 9041.5 करोड़ रुपए हो जाती है. इसके अलावा 329.67 करोड़ की संपत्ति और सीज की गई है. इस तरह यह आंकड़ा बढ़कर 9371.17 करोड़ का हो जाता है.

देखें वीडियो-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − 3 =