विहिप के केन्द्रीय मार्ग दर्शक मंडल की बैठक हरिद्वार में प्रारम्भ

0
1148

हरिद्वार, इंडिया विस्तार। विश्व हिन्दू परिषद् के केंद्रीय मार्गदर्शक मण्डल की बैठक स्वामी विवेकानन्द सरस्वती जी महाराज तथा महामण्डलेश्वर स्वामी परमानन्द जी महाराज की अध्यक्षता में हरिद्वार में प्रारम्भ हुई। बैठक के प्रारम्भ में विश्व हिन्दू परिषद के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने सभी सन्तों का स्वागत करते हुए अपने प्रस्ताविक उद्बोधन में लोकसभा चुनावों के परिणामों पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि इस चुनाव में राष्ट्रवाद, हिन्दुत्व और विकास के मुद्दों की विजय हुई है, परिवारवाद, जातिवाद, तुष्टिकरण और भ्रष्टाचार की राजनीति परास्त हुई है। विश्व हिन्दू परिषद के अध्यक्ष वी.एस. कोकजे ने धारा 370 तथा 35ए की विस्तृत जानकारी पूज्य सन्तों के समक्ष रखी। देश भर से पधारे संतों ने यह माना कि पिछली नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा राष्ट्रहित में जो महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए थे उन्हीं पर देश की जनता ने अपनी स्वीकृति प्रदान की है।

इस सम्बन्ध में आयोजित प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए हरिद्वार के अखंड परमधाम आश्रम के परमानंद महाराज ने कहा कि इस सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में राष्ट्रहित में अनेक महत्वपूर्ण कार्य सफलतापूर्वक प्रारंभ किये थे। जिनमें गो-वंश के संरक्षण, संवर्धन व सुरक्षा की दृष्टि से राष्ट्रीय कामधेनु आयोग की स्थापना, पतित पावनी माँ गंगा की निर्मलता, जिसे कुम्भ के अवसर पर सम्पूर्ण विश्व ने सराहा है, नागरिकता संशोधन अधिनियम के माध्यम से पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान में जिहादी अभियानों से पीड़ित अल्पसंख्यक हिन्दू, बौद्ध, जैन समाज को भारत में सम्मानपूर्वक जीवन जीने का अधिकार, असम में संकल्पपूर्वक भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को बनाने का सफल प्रयास तथा इसे सम्पूर्ण देश में लागू करने का संकल्प भी चुनाव अभियान में प्रकट किया था।


      उन्होंने कहा कि देश में समान जनसँख्या नीति लागू करने, धारा 370 व 35ए को हटाना व कश्मीरी हिन्दुओं का घाटी में पुनर्वसन करना तथा जम्मू कश्मीर की राजनीति सम्पूर्ण प्रदेश की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करे इसके लिए विधानसभा क्षेत्रों का पुनः सीमन भी भाजपा के संकल्प पत्र में शामिल था. इसी संकल्प पत्र में श्री रामजन्मभूमि पर भव्य श्री राममंदिर निर्माण के रास्ते में आने वाली सब बाधाओं को दूर करने का संकल्प भी किया गया है। जिसको भी अब शीघ्रता से मूर्त रूप देना आवश्यक है।
      बैठक में मार्गदर्शक मण्डल ने विश्वास जताया कि नवनिर्वाचित केंद्र सरकार इन सब दिशाओं में शीघ्र आवश्यक कदम उठाएगी तथा देश और समाज के हित में, राष्ट्रीयता, हिन्दुत्व और विकास के सब कार्यों में देश की जनता सरकार को सहयोग देगी। उपस्थित संतों ने श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में गठित सरकार के प्रति अपनी शुभेच्छा व्यक्त करते हुए प्रभु से कामना की है कि सरकार देश के हित और विकास में सफल हो।
    विहिप महासचिव मिलिंद परांडे ने बताया कि कल के सत्र में श्री राम जन्मभूमि के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा होने की सम्भावना है. हो सकता है कि पूज्य संत इस सम्बन्ध में कोई प्रस्ताव भी लाएं।
    हरिद्वार के भोपतवाला स्थित अखंड परमधाम में आज से प्रारम्भ हुई इस दो दिवसीय बैठक में स्वामी परमानन्द गिरी जी, स्वामी विवेकानंद सरस्वती महंत ज्ञान देव सिंह महाराज जगतगुरु रामानंदाचार्य राम-राम धराचार्य जी महाराज महामंडलेश्वर विश्वेश्वर आनंद गिरि जी महाराज आचार्य अविचल दास जी महाराज स्वामी चिन्मयानंद जी महाराज महामंडलेश्वर ज्ञानानंद जी महाराज स्वामी परमानंद सरस्वती जी द्वारा चार्य जी श्याम देवाचार्य जी महाराज स्वामी कृष्णाचार्य जी महाराज महामंडलेश्वर हरिहरानंद सरस्वती जी महाराज स्वामी चिदानंद मुनि जी महेंद्र डॉक्टर रामेश्वर दास जी वैष्णव महामंडलेश्वर हरी चेतना नंद जी महंत फूलडोल जी बिहारी दास जी महाराज महामंडलेश्वर परमानंद भारती जी महाराज स्वामी जितेंद्र जितेंद्र नाथ जी महाराज स्वामी जितेंद्र नंद सरस्वती जी महाराज महंत कमल नयन दास जी महाराज महंत सुरेश दास जी महाराज महंत कन्हैया दास जी महाराज महेंद्र रविंद्र पुरी जी महाराज महंत देव आनंद जी सरस्वती स्वामी शंकरा नंद गिरी जी महाराज महंत राम कृष्ण दास महाराज महामंडलेश्वर अनूप आनंद जी महाराज नवल किशोर दास जी महाराज महामंडलेश्वर ज्योतिर्य्यानन्द जी महाराज के अलावा विहिप अध्यक्ष वी.एस. कोकजे, कार्याध्यक्ष आलोक कुमार उपस्थित थे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here