ताकि सुरक्षित रहे दिल्ली का हर पुलिसवाला

0
355

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। वैश्विक महामारी में दिल्ली पुलिस कि छवि को बदलते हरेक शख्स देख भी रहा है औऱ उसे महसूस भी कर रहा है। अपराधियों के पीछे पड़ने का हरेक दवाब झेलने वाली दिल्ली पुलिस घर-घर जाकर हरेक शख्स की मदद कर रही है। कोविड-19 के खिलाफ जंग में दिल्ली पुलिस बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रही है इसमें कोई शक नहीं लेकिन फ्रंट वॉरियर बनी पुलिस को भी तो इस खतरनाक वायरस से बचना होगा। दिल्ली पुलिस के सीपी एस एन श्रीवास्तव इसकी चिंता कर रहे हैं। उनके मुताबिक बेहद गहनता से सोच समझकर उन्होंने अपनी आला अधिकारियों की टीम के साथ मिलकर कई फैसले लिए हैं। ताकि दिल्ली के हरेक पुलिसवाले का मनोबल भी उंचा रहे औऱ वह खुद को सुरक्षित भी रख सके। इस कड़ी में हालिया फैसला कोरोना रोगी पुलिसकर्मी को एक लाख रूपये की आर्थिक मदद है। ऐसे पुलिसकर्मियों की पहली सूची जारी कर दी गई है जो पाजिटीव आए औऱ उन्हें एक लाख रूपये की मदद दी जा रही है।

इस कड़ी में प्रत्येक शख्स को संक्रमित समझते हुए दूरी बनाए रखने औऱ सेनेटाइज करने जैसे 12 सूत्रीय कदम शुरूआत में ही उठाए जा चुके हैं। दिल्ली पुलिस कमिश्नर खुद कई बार आडियो संदेश के माध्यम से हरेक पुलिसकर्मी को उचित दिशा निर्देश जारी करते रहे हैं। इसके अलावा कई उच्चाधिकारियों को अलग-अलग विशिष्ट काम दिए जा चुके हैं ताकि थाना स्तर पर ही नहीं पुलिस आवास स्तर पर भी जरूरी सुरक्षा और सतर्कता के कदम उठा लिए जाएं। शरूआत में फेसमास्क और ग्लब्स से निकलकर पुलिस में निचले स्तर तक अब पीपीई और फेसशिल्ड दिए जा रहे हैं। रेंज स्तर पर स्प्रे मशीन के अलावा बिटामीन सी औऱ एम्स से सलाह मिशविरा कर दवाईयां बांटी जा रही हैं। कोरांटाइन होने वाले पुलिसकर्मियों की देखभाल के लिए विशेष रूप से निर्देश जारी किए गए हैं। स्पेशल सीपी स्तर की एक अफसर को सभी पाजिटीव आए पुलिसकर्मी और उसके परिवार से बातचीत कर उन्हें देखभाल की जिम्मेवारी सौंपी गई है। दूसरी स्पेशल सीपी को मोटीवेशनल संदेश आदि की जिम्मेवारी सैंपी गई है।

दिल्ली पुलिस के जवान कोविड 19 में सबसे आगे रहकर सेवा कर रहे हैं. लेकिन ये सुरक्षा और सेवा से पहले उन्हें खुद को इस खतरनाक वायरस से सुरक्षित रखना होगा। इसी को ध्यान में रखते हुए दिल्ली पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने हर रेंज के सभी पुलिस थानों और पुलिस कॉलोनियों के लिए कमेटी का गठन किया है ताकि पुलिसकर्मी और उनकी फैमली के लिए बचाव के पुख्ता इंतजाम किए जा सकें। बता दें कि नवगठित इन कमेटियों में 5 जॉइंट सीपी और एक एडिशनल सीपी रैंक के अधिकारी शामिल हैं बताते चलें कि हर ज्वाइंट सीपी अपनी रेंज की कमेटी के चेयरमैन हैं। वहीं आला अधिकारी कोरोना वायरस पर स्टाफ के लिए किए गए अरेंजमेंट्स, पिकेट स्टाफ, क्वारंटाइन सेंटर, हॉस्पिटल, कंटेनमेंट जोन का जायजा ले रहे हैं। इसके अलावा कमेटी के चेयरमैन थानों और पुलिस कॉलोनी की रोजाना अपनी रिपोर्ट कमिश्नर को देंगे। सीपी ने बताया कि उन अधिकारियों और स्टाफ का सम्मान किया जाएगा जो अपने क्षेत्र में अच्छा काम करेंगे। इसकी शुरूआत पिकेट औऱ थाने स्तर पर की जा चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven − four =