कोविड-19 के खिलाफ जंग में वायु सेना ने जारी रखी है मदद की मुहिम

0
270

नई दिल्ली, इंडिया विस्तार। भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने नावल कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई के दौरान भारत सरकार की सभी उभरती जरूरतों को पूरा करने की दिशा में अपने प्रयासों को तेज कर दिया है। भारतीय वायुसेना ने देश के अंदर, चिकित्सा कर्मियों के साथ-साथ दवाईयों और राशन की आवश्यक आपूर्तियों को जारी रखा हुआ है, जिससे राज्य सरकारों और सहायक एजेंसियों को इस संक्रमण के खिलाफ प्रभावी ढंग से मुकाबला करने के लिए मजबूत किया जा सके।

भारतीय वायुसेना का परिवहन विमान, 25 अप्रैल 20 को कोविड-19 से मुकाबला करने के लिए मिजोरम के लेंगपुई हवाई अड्डे पर 22 टन चिकित्सा सामग्री के साथ पहुंचा। मिज़ोरम और मेघालय की सरकारों के लिए यह आपूर्ति की गई। भारतीय वायुसेना ने अब तक लगभग 600 टन चिकित्सा उपकरण और सहायक सामग्री पहुंचाई।

कुवैत द्वारा भारत सरकार से किए गए अनुरोध की प्रतिक्रिया के रूप में, 11 अप्रैल 2020 को सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा (एएफएमएस) रैपिड रिस्पांस की 15 सदस्यीय टीम को कुवैत भेजा गया। काम खत्म होने के बाद इस टीम को 25 अप्रैल 2020 को भारतीय वायुसेना के सी-130 विमान के द्वारा कुवैत से वापस लाया गया। वापसी के दौरान कैंसर से पीड़ित एक छह वर्षीय लड़की, जिसे तत्काल आपातकालीन सर्जरी की आवश्यकता थी, को उसके पिता के साथ वहां से लेकर आया गया।

भारतीय वायुसेना कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए भारत सरकार द्वारा सामाजिक दूरी को बनाए रखने के लिए जारी किए गए सभी दिशा-निर्देशों का अपने कार्य स्थलों पर पालन करते हुए, अभियानों को पूरा करने के लिए पूरी तरह तैयार है। जैसा कि देश इस संक्रमण को रोकने और पराजित करने के लिए अपनी बड़ी लड़ाई लड़ रहा है, भारतीय वायुसेना सभी उभरती जरूरतों को पेशेवर तरीके से पूरा करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है।     

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − two =