आरपीएफ के 41 अफसर और कर्मियों को सम्मान

0
799

इंडिया विस्तार, नई दिल्ली। रेलवे पुलिस बल के 41 राजपत्रित अधिकारियों और कर्मियों को महानिदेशक के प्रशंसा पदक और प्रमाण पत्र द्वारा सम्मानित किया गया है। यह सम्मान उन्हेें बल के सेवानिवृत हो रहे महानिदेशक धर्मेंद्र कुमार ने एक समारोह में दिया। 

समारोह का नेतृत्व  क्षतिज गुरव सहायक सुरक्षा आयुक्त पश्चिम रेलवे द्वारा किया गया | अपने स्वागत सम्बोधन में प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त जया वर्मा महानिरीक्षक रेलवे सुरक्षा विशेष बल ने सभी आगन्तुक अतिथियो का स्वागत करते हुए महानिदेशक के कुशल नेतृत्व एवं मार्गदर्शन हेतु अपना आभार व्यक्त किया एवं बल के द्वारा प्राप्त की गयी उल्लेखनीय सफलताओ का उल्लेख किया जिनमें महानिदेशक द्वारा बल कर्मियों की अवस्था और परिस्थितियो में बदलाव लाने के लिए बल निर्देशिका 32 में आवश्यक संसोधन, जिसके फल स्वरूप बड़ी संख्या में एक्स सर्विस मैन, केयर गिवर, स्पाउस व चिकित्सा आधार पर स्थानंतरण चाहने वाले बल कर्मी लाभान्वित हुए | महानिदेशक द्वारा स्टाफ बैरक की मरम्मत व उनमें मूलभूत सुविधाओं का उन्नयन को उच्च प्राथमिकता देना, अखिल भारतीय रेलवे सुरक्षा बल हेल्पलाइन 182 के माध्यम से आपने सुनिश्चित किया कि रेल यात्रियों की शिकायतो का समय पर निराकरण किया जाए जिसके फलस्वरूप रेल यात्रियो में सुरक्षा की भावना एवं बल के प्रति एक सुरक्षात्मक सोच बनी है | संस्थापना तन्त्र को सुद्र्ड एवं आधुनिकीकरण की दिशा में डेटा बेस मैनेजमेंट सिस्टम का संचालन से बल सदस्यों की समस्याओ का त्वरित निराकरण संभव हो सका | आवश्यक बदलाव के माध्यम से फील्ड में कार्यरत अधिकारियो को पर्याप्त वितीय एवं प्रसासनिक शक्तियों के प्रावधान के फलस्वरूप  बल के आधुनिकीकरण एवं स्थानीय समस्यों के त्वरित निराकरण में अभूतपूर्व सफलता मिली है |

धर्मेन्द्र कुमार, महानिदेशक रेलवे सुरक्षा बल  ने अपने उद्बोधन में बल द्वारा पिछले एक वर्ष में किए गये सभी आधुनिकीकरण एवं बल कर्मियों के कल्याण सम्बन्धित कार्यो में मिली सफलताओ के लिए रेलवे बोर्ड एवं रेलवे जोन के अधिकारियो व बल सदस्यों के प्रति अपना आभार व्यक्त किया | धर्मेन्द्र कुमार द्वारा बल में उठाये गये कुछ महत्वपूर्ण कदमो का उल्लेख किया जिनमे बल में उदारीकृत एवं संवेदनशील स्थानान्तरण नीति को लागू करना,  लंबे समय से लंबित गैर राजपत्रित अधिकारियो व अन्य 8800 स्टाफ को पदोन्नति देना, आरपीएफ रूल 72 में अपेक्षित सुधार एवं परीक्षा देने के अवसर दो से बढ़ाकर चार करना, 100 नये बैरकों की मंजूरी एवं वर्तमान बैरकों का उच्चीकरण, बैरकों में उपलब्ध कराए जाने वाली सुविधाओ का मानकीकरण, मॉडल एसओपी में विस्तृत सुधार, सभी रेलवे सुरक्षा बल पोस्टो पर चोपहिया वाहनों की व्यवस्था, यात्रियों के सामान चोरी एवं महिला सुरक्षा सम्बन्धित अपराधो में आरपीएफ द्वारा एफआईआऱ दर्ज कर जाँच के अधिकार सम्बन्धित प्रस्ताव को रेल मंत्रालय से स्वीकृति प्रमुख है |

महानिदेशक ने अन्य कदमो का उल्लेख करते हुए बताया कि आरपीएफ में खेलो को बढ़ावा देने के लिए पहली बार स्पोर्ट्स पॉलिसी बनाई गयी एवं आरपीएफ स्पोर्टस्  एसोसिएशन को रेलवे स्पोर्टस् प्रमोशन बोर्ड की सदस्यता प्रदान की गयी है | भविष्य में आरपीएफ स्पोर्टस् कोटा के अंतर्गत भर्ती करने में सक्षम हो सकेगा, 40000 से अधिक बल सदस्य एसबीआई सैलरी पैकेज  अकाउंट के माध्यम से एक्सीडेंट इंस्योरेंस एवं अन्य विस्तृत सुविधाओ का लाभ उठा रहे है | रेलवे सुरक्षा बल द्वारा यात्री सुरक्षा हेल्प लाइन 182 को  उच्चीकृत किया जा रहा है | जिससे वह यात्रियों को और अधिक तीव्रता के साथ सुरक्षा प्रदान करने में सक्षम हो सके इसके अतिरिक्त रेल सुरक्षा एप को हेल्प लाइन 182 से iजोड़ा जा रहा है, यात्रा में होने वाले  अपराधो  से सम्बन्धित मामलो के फ्री रजिस्ट्रेशन के लिए गृह मंत्रालय व राज्यों से समन्वय किया जा रहा है, वर्ष 2018 को महिला सुरक्षा वर्ष घोषित किया गया है जिसमे महिला सुरक्षा को उच्च प्राथमिकता देते हुए एक विशेष एक्शन प्लान लागु किया गया है |

महानिदेशक द्वारा बताया गया कि आरपीएफ ने पिछले 2 वर्षो में 11354 यात्रियों के 16.04 करोड़ मूल्य के खोये हुए समानो को रिकवर कर यात्रियों को सुपर्द किया गया, मंत्रालय स्तर पर यह नीतिगत निर्णय लिया गया है कि यात्रियो की सुविधा के लिए आरपीएफ पोस्ट, रेलवे स्टेशनों के प्लेटफार्म नंबर 01 पर बनाये जाए | आरपीएफ में रिक्तियों को भरने की प्रक्रिया शुरू की गयी है जिसके फलस्वरूप हमारी संख्या में शीघ्र ही बडोतरी होगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − ten =