आयुष्मान भारत का लाभ इस तरह मिलेगा लोगों को

0
265

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने  आयुष्मान भारत योजना शुरु की है। इस योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध होगा। सरकार इस के माध्यम से गरीब, उपेक्षित परिवार और शहरी गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराना चाहती है। सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना 2011 के हिसाब से ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ परिवार और शहरी इलाके के 2.33 करोड़ परिवार आयुष्मान भारत योजना  के दायरे में आयेंगे। इस तरह 50 करोड़ लोग बीमा कवर के दायरे में आएंगे। बिहार के ग्रामीण क्षेत्र के 1 करोड़ और शहरी क्षेत्र के 8लाख 65 हजार परिवार को इस योजना का लाभ मिलेगा।सामाजिक आर्थिक एवं जातीय जनगणना 2011 के आधार पर चयन हुआ है।

इनको मिलेगा कवरेज

मोदी सरकार की कोशिश यह है कि महिला, बच्चे और सीनियर सिटीजन को इस योजना में खास तौर पर शामिल किया जाय। आयुष्मान भारत योजना  में शामिल होने के लिए परिवार के आकार और उम्र का कोई बंधन नहीं है। सरकारी अस्पताल और पैनल में शामिल अस्पताल में आयुष्मान भारत योजना  के लाभार्थियों का कैशलेस/पेपरलेस इलाज हो सकेगा।

ग्रामीण इलाके के लिए योग्यता 

आयुष्मान भारत योजना  में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता हैं।ग्रामीण इलाके में कच्चा मकान, परिवार में किसी व्यस्क (16-59 साल) का नहीं होना, परिवार की मुखिया महिला हो, परिवार में कोई दिव्यांग हो, अनुसूचित जाति/जनजाति से हों और भूमिहीन व्यक्ति/दिहाड़ी मजदूर। इसके अलावा ग्रामीण इलाके के बेघर व्यक्ति, निराश्रित, दान या भीख मांगने वाले, आदिवासी और क़ानूनी रूप से मुक्त बंधुआ आदि खुद आयुष्मान भारत योजना  का लाभ उठा सकेंगे।

शहरी इलाके के लिए योग्यता

आयुष्मान भारत योजना में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता हैं। भिखारी, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामकाज करने वाले, रेहड़ी-पटरी दुकानदार, मोची, फेरी वाले, सड़क पर कामकाज करने वाले अन्य व्यक्ति। कंस्ट्रक्शन साईट पर काम करने वाले मजदूर, प्लंबर, राजमिस्त्री, मजदूर, पेंटर, वेल्डर, सिक्योरिटी गार्ड, कुली और भार ढोने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति। स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले, हेंडीक्राफ्ट का काम करने वाले लोग, टेलर, ड्राईवर, रिक्शा चालक, दुकान पर काम करने वाले लोग आदि आयुष्मान भारत योजना में शामिल होंगे।

चेक करें अपना नाम

www.abnhpm.gov.in साइट पर जाकर लाभार्थियों की सूची में अपना नाम चेक करे। यह ध्याआन रखें कि यह बीमा तभी होगा जबकि आपके पास आधार कार्ड हो। अगर आधार कार्ड नहीं तो इसे तत्काधल बनवा लें। सरकार का लक्ष्यस 55 करोड़ लोगों को इस बीमा के दायरे में लाने का है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven + 20 =