जानिए दिल्ली पुलिस कैसे बनी दिल की पुलिस पूरी कहानी वीडियो की जुबानी

0
104

दिल्ली पुलिस से दिल की पुलिस। दिल्ली पुलिस के आगे क्यों लगा है दिल की पुलिस का टैग…। तारीखों में कैद है दिल की पुलिस की कहानी।

25 फरवरी 2020……। उत्तर पूर्वी दिल्ली में साम्प्रादायिक हिंसा चरम पर…..।  ऐसे समय में केंद्र सरकार एक फैसला लेती है। दिल्ली की कानून व्यवस्था की कमान 1985 बैच के आईपीएस एस एन श्रीवास्तव को सौंपा जाता है। घंटो में हिंसा से मुकाबला करने की रणनीति बदल दी गई। एस एन श्रीवास्तव खुद फिल्ड में डट गए…। बुलाया गया दिल्ली के सभी वरिष्ठ अफसरों को…। देखते ही गोली मारने के दिए गए आदेश…। पुलिस की रणनीति काम आई। 26 फरवरी 2020 ….। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा शांत…।

29 फरवरी 2020 दिल्ली पुलिस की कमान एस एन श्रीवास्तव के हाथ सौंपने का फैसला होता है। 1 मार्च 2020 से श्रीवास्तव संभाल लेते हैं दिल्ली पुलिस की कमान…।

10 मार्च 2020 । दिल्ली पुलिस कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव का अंदाज सबसे अलग। वो सड़क पर निकले औऱ सुरक्षा में तैनात जवानों को बांटी मिठाईयां। यह विजुअल इशारा था…बताने के लिए कि दिल्ली पुलिस के काम करने का तरीका अब बदलने वाला है। इसकी पहली झलक मिली..।

22 मार्च 2020… को। जब पीएम मोदी के आहवान पर कोरोना की वजह से लगा जनता कर्फ्यू…। जब देश मना रहा था जनता कर्फ्यू..तो दिल्ली पुलिस लोगों ने लोगों को समझाने का यह नायाब तरीका निकाला। लोगों को दिए पुलिस के फूल ने फिर संकेत दिया दिल्ली की पुलिस बदल रही है। इसी समय दिल्ली पुलिस कमिश्नर एस एन श्रीवास्तव ने नारा दिया दिल की पुलिस का।

21 मार्च 2020 को पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए लगा दिया देश भर में लॉकडाउन….। लॉकडाउन में पुलिस ने कैसे किया काम…। इसकी बानगी हैं ये तस्वीरें….। दिल्ली पुलिस अब दिल का पुलिस बन चुकी थी चाहे वो कोरोना महामारी से लड़ने में लोगों की मदद का हो या क्राइम फ्रंट में क्रिमिनल को पकड़ने का तभी तो हवलदार सनेज को खुशी मिलती है सब्जी की रेहड़ी लगाने वाले शख्स की बेटी का फोन तलाश करने में।

हवलदार सनेज बाइट (फाइल)

दिल का पुलिस बनी दिल्ली पुलिस करीब 350 कोरोना मरीजों को प्लाज्मा दान कर बचा चुकी है उनका जीवन….। दिल का पुलिस दिल्ली पुलिस ने gfx in इस साल लापता होने वाले 3116 में से 2609 लापता बच्चे बरामद किए। दिल्ली में नाबालिग ना बने अपराधी इसके तहत्त हजारों भटके बच्चों से संपर्क कर उन्हें सही राह दिलाने में मदद की गई। करीब 7 करोड़ 60 लाख के सामान उनके वास्तविक स्वामियों को वापस किए गए…।

क्राइम फ्रंट पर भी हो रही है सख्त कार्रवाई

Gfx जून से नवंबर 2020 तक 2431 लोग गैरकानूनी हथियार के सौदे में पकड़े गए। 5000 किलो नारकोटिक्स जब्त किए गए…। महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में 30 प्रतिशत की कमी….। साइबर क्राइम पर नकेल…

लोगों की हो रही सुनवाई

आईसीएमएस जैसी व्यवस्था से 10 हजार से ज्यादा शिकायतों का निपटारा…। लोगों की हर शिकायत पर अब आला अफसरों की निगरानी…।

बदल रही है पुलिस की तकनीक

सभी थानाध्यक्षों को मिला स्कार्पियो…. गठित हो रही है एडवांस्ड क्राइम टीम…। लीगल सलाहकारों की नियुक्ति…।वीडियो कांफ्रेंसिंग…। ऑनलाइन दाखिल हो रहा चार्जशीट…। आर्थिक अपराध के लिए एक्सपर्ट की तैनाती…। मनोवैज्ञानिकों की ली जाएगी मदद…।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven + six =